भोपाल।प्रदेश की शिवराज सरकार ने बाजार से फिर एक हजार करोड़ रुपयों का कर्ज उठाया है। इसके लिये गवर्मेन्ट सिक्युरिटीज का विक्रय किया गया है। यह कर्ज रिजर्व बैंक के मुम्बई कार्यालय के माध्यम से ई-कुबेर सिस्टम से उठाया गया है। इसका पूर्ण भुगतान पन्द्रह साल बाद 15 जुलाई 2035 को किया जायेगा तथा इस दौरान साल में दो बार कूपन रेट पर 15 जनवरी एवं 15 जुलाई को ब्याज का भुगतान भी किया जायेगा। शिवराज सरकार का अपने कार्यकाल में यह छठवां कर्ज है। इससे पहले 26 मार्च को 1500, 1 अप्रैल को 1 हजार, 30 मई को 500, 5 जून को 500 तथा 3 जुलाई को 1 हजार करोड़ रुपयों का बाजार से कर्ज लिया गया था। अब तक वह 5500 करोड़ रुपयों का कर्ज उठा चुकी है। उस पर दो लाख करोड़ रुपयों से ज्यादा कर्ज हो चुका है।
डॉ. नवीन जोशी