गुवाहाटी| केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रविवार को मणिपुर की राजधानी इंफाल पहुंचे। हवाई अड्डे पर मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह और केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने उनका स्वागत किया। यहां उन्होंने मणिपुर विकास यात्रा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में, हमने कोई बंद नहीं देखा है। उन्होंने कहा कि छह सालों में, लगभग सभी सशस्त्र समूहों ने एक के बाद एक हथियार डाल दिए। यह प्रधानमंत्री की दूरदृष्टि का परिणाम है।

पिछले तीन साल में राज्य में नहीं हुआ बंद
अमित शाह ने इंफाल में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'पहले मणिपुर नियमित रूप से अवरोधों के कारण जरूरी चीजों की कमी का सामना करता था। लेकिन पिछले 3 वर्षों में, हमने कोई बंद नहीं देखा है। मैं मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह को सम्मानित करना चाहता हूं क्योंकि उन्होंने राज्य को एक नई पहचान दी है। पूर्वोत्तर अलगाववाद और हिंसा के लिए जाना जाता था। लेकिन पिछले 6 वर्षों में, लगभग सभी सशस्त्र समूहों ने एक के बाद एक हथियार डाले। हिंसा थम गई है। मुझे उम्मीद है कि शेष सशस्त्र समूह हिंसा से दूर रहेंगे और मुख्यधारा में शामिल होंगे। 6 साल पहले एनई इंडिया, जिसे इंसर्जेंसी हॉटबेड के रूप में माना जाता था, अब यह विकास का एक हॉटबेड बन गया है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की योजना और दूरदृष्टि का परिणाम है।'

भाजपा सरकार में मणिपुर बंद नहीं हुआ
उन्होंने कहा कि पहले लोगों को रोजी-रोटी की दिक्कत होती थी। आए दिन बंद हुआ करते थे, जिससे लोगों को परेशानी होती थी। जबसे हमारी सरकार बनी है, मणिपुर बंद नहीं हुआ है। 2014 में पीएम मोदी ने कहा था कि दोनों हाथ मजबूत होने चाहिए और नॉर्थ-ईस्ट दूसरा हाथ है।

विकास के रास्ते पर चल पड़ा है राज्य
शाह ने कहा कि पहले मणिपुर की कानून-व्यवस्था की चर्चा होती थी, लेकिन बीजेपी सरकार बनने के बाद मणिपुर विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। हमने आपसे कहा था कि एक बार हमें पूर्ण बहुमत के साथ अपनी सेवा अवसर देकर देखिए। आपके विश्वास पर हम खरे उतरने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। पिछले तीन साल में हमने मणिपुर का चेहरा बदल दिया है।

नॉर्थ-ईस्ट मोदी जी के दिल में बसता है : शाह
उन्होंने कहा कि पूरा नॉर्थ ईस्ट मोदी जी के दिल में बसता है। प्रधानमंत्री 40 से ज्यादा बार मणिपुर आ चुके हैं। उन्होंने राज्य को सिंचाई योजना दी। हम राज्य को अस्पताल और मेडिकल कॉलेज देंगे। यहां के बच्चे डॉक्टर बनेंगे। हमारी सरकार पूर्वी भारत के विकास के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

2022 चुनाव में भी कमल खिलेगा
मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी संगठन ने देश के गृह मंत्री के दौरे पर किसी तरह के बायकॉट या प्रदर्शन का आह्वान नहीं किया। भाजपा सरकार से लगभग 30 लाख की आबादी वाला हमारा राज्य काफी खुश है। भारत सरकार का राज्य को इनर लाइन प्रोजेक्ट देने का फैसला मणिपुर के विकास में महत्वपूर्ण साबित होगा। इसके साथ ही 2022 चुनाव में भाजपा का भी विस्तार होगा।

कामाख्या मंदिर में दर्शन करने पहुंचे
इससे पहले शाह शनिवार को असम (गुवाहाटी) पहुंचे थे। उन्होंने रविवार सुबह मां कामाख्या देवी के दर्शन किए। मां की पूजा-अर्चना के बाद वे मणिपुर रवाना हुए। शाह के पूर्वोत्तर दौरे का रविवार को दूसरा दिन है।