भोपाल : सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा है कि सहकारिता आंदोलन किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध व सशक्त बनाने का माध्यम बने। सहकारी कर्मी प्रदेश के किसानों की सेवा समर्पित भाव से करें। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा है कि प्रदेश के सभी किसानों का दुर्घटना बीमा हो जिससे संकट की घड़ी में उनके परिजनों को सहारा मिल सके। अपेक्स बैंक इसके लिए एक समिति गठित कर बेहतर प्लानिंग करे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना व किसान क्रेडिट कार्ड से संबंधित शिकायतें प्राथमिकता से निराकृत की जाएं, इन मामलों के निराकरण में कोई लापरवाही नहीं हो। सहकारिता मंत्री डॉ भदौरिया शुक्रवार को अपेक्स बैंक के समन्वय भवन में 56वें वार्षिक साधारण सम्मिलन तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

मंत्री डॉ. भदौरिया ने कहा कि 'आत्मनिर्भर भारत-आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश'' अंतर्गत समितियां अच्छे प्रोजेक्ट हाथ में लें ताकि वे वायबल हो। मध्यप्रदेश में सहकारी समितियों की कार्य-प्रणाली को पारदर्शी बनाने के लिये समितियों का कंप्यूटराइजेशन किया जाएगा। इसके लिए प्रदेश में तेलंगाना मॉडल को अपनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि 18 सितंबर 2020 की स्थिति में पिछले वर्ष 7534 करोड़ रुपए का ऋण किसानों को वितरित किया गया था जबकि चालू वर्ष में इसी अवधि में लगभग 9200 करोड़ रुपए का ऋण वितरित किया गया है, जो कि पिछले वर्ष की अपेक्षा 22 प्रतिशत अधिक है।

बैठक में जिला सहकारी बैंकों में एनपीए की तुलनात्मक स्थिति की समीक्षा की गई तथा निर्देश दिए गए कि सहकारी बैंकों में ऋण माफी के पहले व ऋण माफी के बाद की एनपीए संबंधी तुलनात्मक जानकारी तैयार की जाये। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा में बताया गया कि खरीफ 2019 में 74 हजार 860 कृषकों को 54 हजार 865 लाख रुपए की दावा राशि स्वीकृत कर लाभान्वित किया गया है। रबी 2019 - 20 में 12 लाख 83 हजार 551 कृषकों का बीमा किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में खरीफ 2020 में पोर्टल पर प्रविष्टि की भी समीक्षा की गई।

बैठक में अपेक्स बैंक द्वारा पिछले 5 वर्षों में किये गए विकास कार्यों की समीक्षा भी की गई। इस दौरान ग्राहकों के खातों से अन्य बैंकों में 2 लाख से अधिक की राशि अंतरण हेतु आरटीजीएस सेवाएं लागू की गई। केंद्र एवं राज्य शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों के खातों में सीधे सब्सिडी के अंतरण हेतु डीपीटी सुविधा लागू की गई। जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों से संबंधित प्राथमिक सहकारी समितियों के 22 लाख कृषक सदस्यों को अल्पकालीन कृषि ऋण दिए जाने के लिए सहकारी बैंक में 'डिजिटल मेंबर रजिस्टर' प्रणाली लागू की गई। कृषकों को रुपे किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गए। इसके अलावा 36 सहकारी बैंकों में अमानतदारों को एटीएम/ई-कॉमर्स की सुविधा प्रदान की। अपेक्स बैंक द्वारा मोबाइल ऐप आधारित 24 x 7 बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराई गई। इंदौर में मोबाइल बैंकिंग सेवा संचालित की गई। शीर्ष बैंक व अन्य सहकारी बैंक द्वारा एटीएम की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई।

अपेक्स बैंक के साधारण वार्षिक सम्मिलन में वर्ष 2018- 19 एवं वर्ष 2019- 20 के अंकेक्षण की तुलनात्मक वित्तीय स्थिति, वर्ष 2020-21 हेतु किए गए बैंक के वित्तीय आंकलन का पुनरीक्षण, वर्ष 2021-22 हेतु कार्य व्यवसाय के वित्तीय अनुमानों के प्रतिवेदन का अनुमोदन, वर्ष 2019-20 के वास्तविक अंकेक्षित आय-व्यय का अनुमोदन, वर्ष 2020-21 के आय व्यय (बजट) का पुनरीक्षण एवं वर्ष 2021-22 के अनुमानित आय व्यय की स्वीकृति, बैंक के अंकेक्षित वित्तीय वर्ष 2019- 20 का अवलोकन किये जाने के साथ ही बैंक के वर्ष 2019-20 के अंकेक्षित शुद्ध लाभ के विनियोजन/वितरण की स्वीकृति प्रदान की गई। इसके अलावा वर्ष 2020-21 के लेखाओं के संपरीक्षण हेतु संनदी लेखाकार/संपरीक्षक की नियुक्ति तथा बैंक की लेखा पुस्तकों में दर्शित अपलेखन योग्य आस्तियों/हानियों के अपलेखन की स्वीकृति भी प्रदान की गई। बैठक में एपेक्स बैंक के 124 करोड़ के लाभार्जन पर प्रसन्नता व्यक्त की।

मंत्री डॉ. भदौरिया ने सीएम हेल्पलाइन व जनसुनवाई में लंबित शिकायतों को गंभीरता से लेकर निराकृत करने के निर्देश दिए। उन्होंने ने इंदौर प्रीमियर कोऑपरेटिव बैंक से संबंधित सीएम हेल्पलाइन में किसान क्रेडिट कार्ड व फसल बीमा से संबंधित 108 शिकायतें लंबित होने पर नाराजगी जताई और कहा कि इन मामलों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने इंदौर प्रीमियर को-ऑपरेटिव बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश भी दिए।

बैठक के अंत में मंत्री डॉ. भदौरिया ने गेहूं के रिकॉर्ड उपार्जन तथा देश में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर उल्लेखनीय कार्य के लिए अपेक्स बैंक के विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी श्री प्रदीप जोशी व सहायक लेखा अधिकारी श्री विजय अग्रवाल को सम्मानित भी किया। बैठक में आयुक्त एवं पंजीयक सहकारिता तथा अपेक्स बैंक के प्रशासक डॉ. एम.के. अग्रवाल, प्रबंध संचालक मार्कफेड श्री पी. नरहरि, नाबार्ड के महाप्रबंधक श्री डी.एस. चौहान, अपेक्स बैंक के प्रबंध संचालक श्री प्रदीप नीखरा विशेष रूप से उपस्थित थे।