नई दिल्ली । विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना की दूसरी लहर 100 दिन तक चल सकती है। जब तक 70 फीसदी लोगों का टीकाकरण और सामुदायिक प्रतिरोधक क्षमता विकसित नहीं होगी, ये लहर चलती रहेगी। इसलिए मास्क पहनने के साथ सुरक्षा के सभी उपायों को अपनाना बेहद जरूरी है। यह सलाह दक्षिण पूर्व जिले की पुलिस की ओर से तैयार एडवाइजरी में दी गई है ये एडवाइजरी दिल्ली पुलिसकर्मियों को जागरूक करने के लिए तैयार की गई है। 
डॉ. नीरज कौशिक द्वारा तैयार एडवाइजरी में कहा गया है कि कोरोना वायरस का नया रूप टीके और प्रतिरोधक क्षमता से भी बच कर निकल;सकता है। दोबारा संक्रमण होने और टीका लगवा चुके लोगों में संक्रमण होने का ये अहम कारण है।एडवाइजरी में कहा गया है कि वायरस का ये नया रूप बेहद खतरनाक संक्रमण फैलाने वाला है। इसलिए परिवार के एक सदस्य के संक्रमित होने पर पूरा परिवार संक्रमण हो जाता है। ये वायरस बच्चों को भी अपना निशाना बना रहा है।डॉ.कौशिक ने कहा कि ये वायरस सामान्य आरटी-पीसीआर जांच में पकड़ में नहीं आ रहा है। हालांकि सूंघने की क्षमता खत्म हो जाना इस वायरस से संक्रमित होने की सबसे खास पहचान है। अभी तक सामने आए ट्रेंड के मुताबिक इस वायरस का प्रसार सतह पर नहीं हो रहा है। इसलिए सतहों को डिसइंफेक्ट करने की ज्यादा जरूरत नहीं हैउन्होंने कहा कि किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में 15 मिनट से ज्यादा रहने पर आपके संक्रमित होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। वहीं मोटापा, मधुमेह, किडनी की बीमारी से पीड़ित लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने पुलिसकर्मियों को अधिक व्यायाम और जंक फूड से बचने की सलाह भी दी है। वहीं जूस, नारियल पानी और दलिया जैसे पदार्थ लेने की भी सलाह दी है।