खुदकुशी की दूसरी कोशिश:भोपाल के बड़े तालाब में जान देने पहुंची युवती; गोताखोरों ने पकड़ा, वह बोली- मैं तो ऐसे ही यहां आई थी, अपना नाम तक नहीं बताया
 

भोपाल के बड़े तालाब के पास खुदकुशी के इरादे से घूम रही युवती को बचाया। पुलिसकर्मी उससे काफी देर तक वहां आने का कारण पूछते रहे। उसने कारण तो छोड़ो अपना नाम तक नहीं बताया।
एक बार पहले भी छलांग लगा चुकी है
दूसरी बार भी नाम पता नहीं बताया

भोपाल के बड़े तालाब में खुदकुशी करने के इरादे से पहुंची एक युवती को गोताखोरों और पुलिस ने बचा लिया। वह पहले भी एक बार तालाब में छलांग लगाकर खुदकुशी की कोशिश कर चुकी है। हालांकि उसे बचा लिया गया था। पूछने पर उसका कहना था ऐसे ही घूमने आ गई। काफी कोशिशों के बाद कारण तो छोड़ो युवती ने अपना नाम तक नहीं बताया।

नगर निगम के गोताखोर शेख आसिफ ने बताया कि मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे एक युवती वीआईपी रोड पर घूमते हुए नजर आई। वह पानी की तरफ देखे जा रही थी। कभी बैठ जाती। फिर कभी चलने लगती। उसके पानी में कूदने की कोशिश करने के पहले ही मजहर के साथ उसे पकड़ लिया। तलैया पुलिस को इसकी सूचना दी।

पुलिसकर्मी उससे काफी देर तक पूछताछ करते रही, लेकिन उसने कुछ नहीं बताया। सिर्फ इतना कहा कि वह यूं ही यहां आ गई थी। वह पुलिसकर्मियों के सामने हंसते भी नजर आई। काफी कोशिशों के बाद भी जब उसने कुछ नहीं बताया, तो पुलिस ने उसे समझाइश देने के बाद थाने से जाने दिया। हालांकि उसे तालाब के किनारे दोबारा नहीं जाने की हिदायत दी है।

जाली लगना चाहिए
इधर, धाना प्रभारी तलैया डीपी सिंह ने बताया कि यह युवती एक बार पहले भी कोशिश कर चुकी है। उस दिन भी उसकी जान बचा ली थी। उसने न तो अपना नाम बताया और न ही यहां आने का कारण बताया। हमने उसे समझाइश देकर छोड़ दिया है। वीआईपी रोड के तलैया से शुरू होने से लेकर राजा भोज की मूर्ति तक जाली लगाए जाने की जरूरत है। अगर यहां पर दो से तीन फीट ऊंची जलाई लगाई जाती है, तो कई लोगों को सुसाइड करने से रोका जा सकता है।