नई ‎दिल्ली । नोएडा के सेक्टर 81 स्थित सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के प्लांट में काम शुरू हो गया। शुक्रवार को 3000 मजदूरों के साथ कंपनी ने कामकाज शुरू कर दिया। इन सभी कर्मचारियों को बसों के जरिए फैक्ट्री तक लाया गया था। सरकार ने लॉकडाउन-3 में सीमित कर्मचारियों के साथ फैक्ट्री के संचालन को मंजूरी दी है। 35 एकड़ में फैली इस फैक्ट्री का उदघाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने किया था। यह दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट है। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 195 कंपनियों और 51 बिल्डरों को काम की अनुमति दी। यहां अब तक कुल 417 कंपनियों और 92 बिल्डरों को काम की अनुमति मिल चुकी है। डेडिकेटिड फ्रेट कॉरिडोर और ओप्पो मोबाइल कंपनी को भी काम की अनुमति दी गई है। काम के लिए 668 कंपनियों व 55 बिल्डरों ने काम के लिए आवेदन किया था। बिल्डरों के चार आवेदन रिजेक्ट हो गए। नोएडा अथॉरिटी के पास करीब 2200 इंडस्ट्री से आवेदन आए थे, बुधवार तक 620 को संचालन की एनओसी दे दी गई और 1500 के आवेदन कैंसल कर दिए गए। वहीं 17 बिल्डर प्रॉजेक्ट, और 34 संस्थानों को संचालन की अनुमति दी गई है।