नई दिल्ली । रिलांयस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने ग्राहकों से किराना सामानों का ऑर्डर लेने के लिए फेसबुक के वॉट्सऐप का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। हालांकि यह अभी परीक्षण के दौर में है। फेसबुक ने बीते दिनों रिलायंस जियो में 5.7 अरब डॉलर (लगभग 42 हजार करोड़ रुपए) का निवेश करने की घोषणा की है। क्रेडिट सुइस ने एक रिपोर्ट में कहा है कि रिलायंस रिटेल के ई-कॉमर्स वेंचर जियो मार्ट ने नवी मुंबई, ठाणे तथा कल्याण में किराना वस्तुओं के ऑर्डर के लिए ग्राहकों से वॉट्सऐप पर संपर्क करना शुरू कर दिया है। रिपोर्ट में कहा गया है ‎कि उपभोक्ता वॉट्सऐप पर कंपनी से संपर्क करते हैं, जियोमार्ट वेबपेज पर ग्रॉसरी ऑर्डर की जांच करते हैं, उसके बाद वॉट्सऐप पर खुदरा स्टोर से जुड़ते हैं। बाद में ग्राहक किराना से अपना ऑर्डर उठाते हैं और उसका नकद में भुगतान करते हैं। कंपनी का कहना है कि यह मॉडल आपूर्ति और पूरे लेनदेन को एक ऐप के जरिए पूरा करने से संबंधित है। फेसबुक के साथ करार से अंबानी को डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाने में मदद मिलेगी और वह ई-कॉमर्स बाजार में ऐमजॉन और वॉलमार्ट की फ्लिपकार्ट को चुनौती पेश कर सकेंगे। केपीएमजी का आकलन है कि ई-कॉमर्स बाजार 2027 तक बढ़कर 200 अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा। क्रेडिट सुइस की रिपोर्ट में कहा गया है कि इस सौदे से फेसबुक को भारत की खुदरा क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी के साथ भागीदारी का लाभ मिल सकेगा। अभी इस भागीदारी की शुरुआत ग्रॉसरी से हुई है, बाद में इसका विस्तार दवाओं के वितरण, फैशन और लाइफस्टाइल स्टोरों और खाद्य उत्पादों की आपूर्ति के लिए भी हो सकता है।