भोपाल । वर्तमान में चलने वाली चुनिंदा स्पेशल ट्रेनों में कई दिनों तक रिजर्वेशन फुल हैं जिसके कारण लोग जरूरी काम से भी यात्रा नहीं कर पा रहे हैं। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है कि यात्रियों को वेटिंग टिकट पर यात्रा करने की अनुमति न होना। इस स्थिति में यदि किसी यात्री को जरूरी काम से यात्रा करनी हो तो वह रिजर्वेशन टिकट क्लीयर नहीं मिलने के कारण वेटिंग टिकट पर भी यात्रा नहीं कर पा रहा है।
 गौरतलब है कि कोरोना वायरस के चलते नियमित ट्रेनों को 12 अगस्त तक निरस्त किया गया है इस स्थिति में जो ट्रेनें चल रही हैं लोगों को केवल उन्हीं के सहारे ही यात्रा करना मजबूरी है, लेकिन चुनिंदा ट्रेन होने के कारण रिजर्वेशन भी कई दिनों के लिए फुल हैं। मनीष सेन बताया कि उन्हें जरूरी काम से उज्जैन जाना है, लेकिन रिजर्वेशन नहीं मिलने के कारण पिछले आठ दिनों से टिकट क्लीयर होने का इंतजार कर रहे हैं।
निजी वाहनों से करनी पड़ रही यात्रा
ट्रेनें बंद होने के कारण लोगों को ट्रेन में आने वाले खर्च से कई गुना ज्यादा रुपए खर्च कर निजी वाहन से यात्रा करनी पड़ रही है। जिनके पास स्वयं के वाहन है वह तो फिर भी कम खर्च में पहुंच रहे हैं, लेकिन जिन्हें किराए के वाहन से यात्रा करनी है वह परेशान हैं। वहीं जिन लोगों को दिल्ली, मुंबई जैसी लंबी दूरी की यात्रा करना है उन्हें ट्रेन के अलावा यात्रा करने का कोई दूसरा विकल्प नहीं है।