रायपुर | देशव्यापी लाॅकडाउन के इस मुश्किल दौर में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सरकार के रहते हुए चिंता करने की आवश्यकता नही पडे़गी। इस मुश्किल वक्त में राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है। 

 छत्तीसगढ़ सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना की प्रशंसा करते हुए बीजापुर जिले के विकासखण्ड भैरमगढ़ के ग्राम माटवाडा के किसान श्री चैतुराम लेकाम ने बताया कि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा लाॅकडाउन किया गया हैं और इस कठिन परिस्थिति में राज्य सरकार द्वारा गरीब किसानों के बारे सोचते हुए बहुत अच्छा कार्य कर रही है। उन्होंने बताया कि घर परिवार में कुल 05 सदस्य जीवनयापन करते है और लाॅकडाउन के चलते मजदूरी के लिए कार्य भी बंद होने के कारण उनका परिवार का भरण-पोषण बहुत कठिन हो गया था। एक गरीब किसान होने के नाते खेती के अलावा मजदूरी का कार्य करता था, लेकिन लाॅकडाउन के कारण मजदूरी का कार्य बंद हो गया । इस मुश्किल समय मे वे अपने परिवार के भरण पोषण के लिए परेशान थे। उन्होंने बताया कि मोबाईल के माध्यम से पता चला कि मेरे खाते में प्रदेश सरकार की राजीव गांधी किसान न्याय योजना से प्रथम किश्त के रूप में 13 हजार 454 रूपये खाते में जमा हो गया है। ऐसे कठिन वक्त में उनके खाते में राशि जमा होने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की तरीफ करते हुए धन्यवाद दिया। माटवाडा के इस किसान ने बताया कि किसान न्याय योजना के माध्यम से वर्ष 2019-20 के समर्थन मूल्य पर धान की बिक्री करने वाले किसानो को प्रथम किश्त की राशि इस मुश्किल वक्त में खाते में जमा किया गया है। उन्होंने बताया कि 05 एकड़ की धान की खेती है और इस साल 75 क्विटंल धान बेचा था। 

 मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सरकार के इस जनहितैषी व महत्वाकाक्षी योजना की सराहना करते हुए किसान श्री चैतुराम लेकाम ने बताया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने इस मुश्किल हालात में गरीब किसानों और मजदूरों के लिए सहारा बन गया है।