बिलासपुर । लंबे इंतजार के बाद आखिरकार मानसून की दस्तक शनिवार को शहर में हुई और दोपहर बाद लगभग एक घंटे मूसलाधार बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक अभी मानसून बस्तर पहुंचा है और पूरे छत्तीसगढ़ यह २५ जून तक फैल जाएगा। आज पहली बार शहर व आसपास के क्षेत्रों में प्री-मानसून की बारिश ने लोगों को काफी राहत दी है। भीषण गरमी और उमस झेल रहे लोग आज हुई बारिश से प्रपुâल्लित नजर आए। अनेक बड़े व बच्चे बारिश के दौरान सडक़ों में भीगते व गली मुहल्लों में मौसम का लुत्फ उठाते दिखे।
उल्लेखनीय है कि मानसून ने इस वर्ष छत्तीसगढ़ में लगभग १० दिन देरी से दस्तक दी है प्राय: मानसून १० से १५ जून तक छत्तीसगढ़ में प्रवेश कर जाता है लेकिन पिछले दो तीन वर्षों से इसके पहुंचने में विलंब होने लगा है। कल मानसून बस्तर क्षेत्र पहुंचा और वहां झमाझम बारिश शुरू हो गई। वहीं प्री मानसून की बारिश से राजधानी भी तरबतर हुई। इसका असर कल से बिलासपुर में भी दिखने लगा था। सुबह से आसमान में बादल छाए रहे और रूक-रूककर रात में बूंदाबांदी होती रही। शनिवार की सुबह से भी मौसम खुशनुमा रहा और तापमान कें काफी गिरावट दर्ज की गई। पारा आज लुढक कर ३८.३९ डिग्री पर आ गया। आज दोपहर में आसमान में छाए बादल झमाझम बरसने लगे और एक घंटे की लगातार बारिश से गली-मुहल्लों व मुख्य सडक़ों में पानी की धार बहने लगा। मौसम खुशनुमा होने से लोग प्रसन्न दिखे। लगातार भीषण गर्मी और उमस से लोगों को थोड़ी राहत मिली। हालांकि कुछ ही देर बाद बारिश बंद होते ही धरती सूखी नजर आने लगी मगर देर शाम से हल्की बूंदाबांदी देर रात तक होती रही। आज की बारिश ने किसानों में बड़ी उम्मीद जगा दी है क्योंकि खरीफ फसल के लिए धान की बोआई में विलंब हो चुका है। एक सप्ताह भी अगर बारिश में देरी और होती तो स्थिति विकट हो सकती थी। अब खेती-किसानी के कार्य में तेजी आ जाएगी। क्योंकि ३-से ४ दिन में झमाझम बारिश की संभावना जताई गई है।