नई दिल्ली | अनलॉक चार में जहां 7 सितंबर से मेट्रो की शुरुआत होने जा रही है तो रेलवे ने भी ट्रेनों की संख्या बढ़ाने का फैसला किया है। रेल मंत्रालय ने कहा है कि और अधिक स्पेशल ट्रेनों पर विचार किया जा रहा है और इसके लिए राज्य सरकारों से सलाह-मशविरा जारी है।कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से मार्च अंत से ही पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन बंद है। अभी रेलवे केवल 230 स्पेशल ट्रेनें चला रहा है, जिनमें 30 राजधानी हैं।

गौरतलब है कि आने वाले महीनों में दशहरा, दीपावली, छठ पूजा जैसे कई त्योहार आने वाले हैं, जिनमें यात्रियों की संख्या काफी बढ़ जाती है। इस बार ट्रेनों की संख्या बेहद सीमित होने की वजह से लोगों को आवाजाही में दिक्कत हो सकती है। इसको ध्यान में रखते हुए रेलवे ने कुछ और स्पेशल ट्रेनों के परिचालन का फैसला किया है।

रेल मंत्रालय के प्रवक्ता ने हालांकि, यह नहीं बताया कि वर्तमान में चल रहीं 230 स्पेशल ट्रेनों के अतिरिक्त ऐसी कितनी और ट्रेन चलाई जाएंगी। सूत्रों ने बताया कि नई स्पेशल ट्रेन चलाने संबंधी घोषणा आगामी कुछ दिन में की जाएगी। वर्तमान में कोविड-19 की वजह से सभी नियमित यात्री सेवाएं निलंबित हैं। रेलवे के प्रवक्ता ने कहा, ''और अधिक स्पेशल ट्रेन चलाने की योजना बनाई जा रही है। राज्य सरकारों से विचार-विमर्श किया जा रहा है।'' 

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच रेलवे काफी अहतियात बरत रहा है और इसलिए नियमित ट्रेनों को अभी तक शुरू नहीं किया गया है। स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में भी कई तरह की सावधानियां बरतीं जा रही हैंं। वेटिंग टिकट पर यात्रा पर रोक है। इस समय वे ही यात्री ट्रेन में सवार हो सकते हैं जिनके पास कंफर्म टिकट हो।