नई दिल्ली : नक्सलियों द्वारा बुधवार को गढ़चिरौली में किए गए विस्फोट और पुलवामा, उरी जैसे हमलों का हवाला देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके इस बयान के लिए आड़े हाथ लिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि साल 2104 के बाद से भारत में धमाकों की आवाजें आनी बंद हो गई हैं. राहुल गांधी ने कहा था कि प्रधानमंत्री को अपने कान खोलकर सुनना चाहिए.

राहुल की यह टिप्पणी नक्सलियों द्वारा गढ़चिरौली में किए गए आईईडी विस्फोट के बाद आई है. इस विस्फोट में 15 सुरक्षाकर्मियों समेत 16 लोग मारे गए थे.

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री कहते हैं कि भारत में 2014 के बाद से विस्फोटों की कोई आवाज नहीं सुनी गई. पुलवामा, पठानकोट, उरी और गढ़चिरौली.... और साल 2014 से 942 अन्य प्रमुख धमाके. प्रधानमंत्री को अपने कान खोलकर सुनने की जरूरत है.’’
उल्‍लेखनीय है कि गुरुवार को महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों द्वारा एक सुरक्षा वाहन को निशाना बनाकर किए गए बारूदी सुरंग विस्फोट में 15 कमांडो शहीद हो गए और एक नागरिक की मौत हो गई. नक्सलियों ने कुरखेड़ा तहसील में ऐसे समय विस्फोट किया, जब राज्य अपना स्थापना दिवस मना रहा है.

नक्सलियों ने महाराष्ट्र पुलिस के प्रतिष्ठित सी-60 कमांडो को ले जा रहे वाहन को कुरखेड़ा क्षेत्र में अपराह्न् 12.30 बजे के करीब विस्फोट कर उड़ा दिया. इस घटना के बमुश्किल से 10 घंटे पहले संदिग्ध नक्सलियों ने गढ़चिरौली के दादरपुर गांव में सड़क निर्माण से जुड़े कम से कम 36 वाहनों और एक सड़क निर्माण कांट्रेक्टर के दो साइट कार्यालयों को जला दिया था.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, राज्य के नक्सल प्रभावित इलाके में अभियान चलाने वाले विशेष त्वरित प्रतिक्रिया बल के कर्मी ऐसी जगह जा रहे थे, जहां से नक्सलियों के हमला करने की साजिश की सूचना मिली थी.
सूत्रों के अनुसार, सी-60 बल को रास्ते में जंगली क्षेत्र में सुनसान सड़क पर कथित तौर पर गिरे हुए पेड़ मिले. जब वे सड़क से पेड़ हटाने के लिए उतरे, विस्फोट हो गया और कमांडो तत्काल घटनास्थल पर ही शहीद हो गए.

महाराष्ट्र पुलिस के महानिदेशक सुबोध जायसवाल ने कहा कि 15 कर्मियों को ले जा रहा एक सुरक्षा वाहन बारूदी सुरंग विस्फोट की चपेट में आ गया और इसके साथ ही एक निजी वाहन भी इसकी जद में आ गया. उन्होंने मुंबई में एक प्रेस वार्ता में कहा, "सबसे दुखद यह है कि हमने अपने 15 जवानों को खो दिया."