प्यारे मियां शोषण मामला नाबालिक की गई जान छावनी बना हमीदिया हॉस्पिटल 

 प्यारे मियां शोषण मामला नाबालिक की गई जान छावनी बना हमीदिया हॉस्पिटल प्यारे मियां के नाबालिग बच्चों से यौन शोषण के मामले की पीड़िता ने बुधवार रात 10:00 बजे इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है हमीदिया अस्पताल में बच्ची का इलाज चल रहा था इलाज के दौरान ही बच्ची की मौत हो गई है गौरतलब है कि 2 दिन पहले बच्ची ने नींद की गोलियां खाई थी सोमवार देर रात उसे हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया था परिजनों ने बालिका गृह की  सुपरडेनटेंट  अंतोनिआ  कुजूर इक्का  पर  प्रताड़ना का आरोप लगाया था और सवाल उठाया था कि आखिर नींद की गोलियां वहां पहुंची कैसे
 मामले की गंभीरता को देखते हुए बालिका गृह की सुपरडेनटेंट को हटा दिया गया वहीं मृतका के चचेरे भाई ने बताया कि गुरुवार को कड़ी सुरक्षा में पोस्टमार्टम कराया गया कड़ी सुरक्षा के लिए पुलिस छावनी बना दिया गया प्यारे मियां यौन शोषण मामले में 5 फरियादी बालिका गृह में रह रही हैं  उनके एक नाबालिक को नींद की गोलियां खा लेने के कारण सोमवार रात संदिग्ध परिस्थिति में निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था सूचना मिलते ही नाबालिग के परिजन भी अस्पताल पहुंच गए थे उन्होंने बाल गृह  पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाए थे सवाल उठाए की गोलियां पहुँची कैसे  गर्भ गृह में ही नींद की गोलियां खिलाई गई है