लखनऊ । उप्र में कांग्रेस को उसकी खोयी हुई प्रतिष्ठा पुनः हासिल कराने के लिए जी-जान से जुटीं पार्टी महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी कल दस अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से हुंकार भरेंगे। पार्टी ने उनकी रैली को लेकर पूरी ताकत झोंक दी है। इस रैली को किसान न्याय रैली नाम दिया गया है। रैली में किसानों को न्याय दिलाने की मांग होगी और उसके साथ किसान विरोधी तीनों काले कानून वापस लेने की मांग के साथ लखीमपुर नरसंहार के जिम्मेदार केन्द्रीय मंत्री की बर्खाश्तगी और हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग की जाएगी।
प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने बताया कि बनारस के जगतपुर इण्टर कालेज में आयोजित किसान न्याय रैली में कांग्रेस महासचिव-प्रभारी उत्तर प्रदेश श्रीमती प्रियंका गांधी किसानों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करेगीं। रैली की तैयारियों के लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग में वार रूम बनाया गया है, उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दो दिन पहले से ही बनारस में रैली की तैयारियों को लेकर कैम्प कर रहे हैं और लगातार कार्यकर्ताओं को तैयारी संबंधी दिशा निर्देश जारी कर रहे हैं और खुद भी मौके पर जाकर तैयारियों का जायजा ले रहे हैं। राष्ट्रीय सचिव-सह प्रभारी श्री धीरज गुर्जर भी कल ही तैयारियों का जायजा लेने के लिए कैम्प कर चुके हैं, राष्ट्रीय सचिव रोहित चैधरी, राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल भी पहले ही पहुँच चुकें हैं।
रैली को सफल बनाने के लिए कांग्रेस की नेता विधानमंडल दल आराधना मिश्रा मोना, नेता विधान परिषद दीपक सिंह, पूर्व मंत्री व मीडिया विभाग के चेयरमैन नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व विधायक पंकज मलिक, पूर्व सांसद राजेश मिश्रा पूर्व राज्यसभा सदस्य पीएल पुनिया उत्तर प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष डॉ निर्मल खत्री, पूर्व विधायक अजय राय सहित अन्य पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व सांसद और पूर्व विधायक वाराणसी पहुंच चुकें हैं।