अहमदाबाद | मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अहमदाबाद शहर के सभी नागरिकों का दो दिन के साप्ताहांत कर्फ्यू में पर्याप्त सहयोग देने के लिए आभार व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि त्यौहारों के बाद अलग-अलग राज्यों और शहरों में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है, ऐसे वक्त में हमें कोरोना संक्रमण और ना बढ़े उसके लिए तत्काल निर्णय करते हुए अहमदाबाद में कर्फ्यू लगाना पड़ा। कल यानी सोमवार से अहमदाबाद शहर में केवल रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू हो रहा है। इसके साथ ही वडोदरा, राजकोट और सूरत में भी कल से लगाया गया रात्रि कर्फ्यू जारी रहेगा। रूपाणी ने सभी नागरिकों विशेषकर युवाओं से अपील की है कि शाम से रात्रि के दौरान रेस्टोरेन्ट, पान की दुकान या चाय की लारी जैसी जगहों पर समूह में एकत्रित होकर भीड़भाड़ ना करें और अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकलना टालें। उन्होंने युवाओं से अनुरोध किया कि वे तो युवा अवस्था में स्वस्थ हैं, लेकिन यदि वे संक्रमण लेकर घर जाएंगे तो घर पर मौजूद बुजुर्ग इससे प्रभावित होंगे। अतः युवा इस बात का विशेष ध्यान रखें। इन चार शहरों के सिवाय राज्य के बाकी के नगरों और गांवों में संक्रमण न बढ़े उसके लिए मुख्यमंत्री ने लोगों से रात्रि के दौरान घर पर ही रहने की अपील की है। राज्य भर में सुबह 6 से रात के 9 बजे के दौरान बाहर निकलने पर लोगों से अनिवार्य रूप से मास्क पहनने की खास अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ 1,000 रुपए के जुर्माने की कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश भी पुलिस को दिए हैं। रूपाणी ने यह भी कहा कि भूतकाल में हम सभी ने साथ मिलकर हरेक संक्रमण का बेहतर तरीके से सामना किया है। मुख्यमंत्री ने साफ किया कि नागरिकों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। राज्य सरकार ने हॉस्पिटलों में पर्याप्त बेड, डॉक्टरों तथा त्वरित उपचार मुहैया कराने की सारी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की हैं। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना का संक्रमण रोकना अति आवश्यक है इसलिए हर कोई अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, दो गज की दूरी बनाए रखने और लगातार हाथ धोने या सैनेटाइज करने जैसी आदतों को अपनाएं और उसका अवश्य पालन करे।