गुजरात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय गुजरात दौरे का आज दूसरा दिन है. पीएम मोदी आज स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पहुंचे और सरदार पटेल को पुष्पांजलि अर्पित की. इसके बाद पीएम मोदी राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में शामिल हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रोबेशनरी IAS अफसरों को संबोधित भी किया. इसके अलावा पीएम मोदी ने सी प्लेन सेवा की शुरूआत की है. 

केवड़िया से साबरमती पहुंचे पीएम मोदी
देश के पहले सी प्लेन ने अपना पहला सफर पूरा कर लिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस सी प्लेन के पहले पैसेंजर बने. इस सी प्लेन से पीएम मोदी ने केवड़िया से अहमबादबाद के साबरमती रिवर फ्रंट तक यात्रा की

सी प्लेन की खासियत
सी प्लेन कई मायनों में खास है. ये हल्का होता है और कम ईंधन में उड़ान भर सकता है. सी प्लेन असल में ट्विन ऑट्टर 300 सी-प्लेन है. इसका वजन 3,377 किलो है. इसमें 1,419 लीटर तक पेट्रोल भरा जा सकता है. हर एक घंटेकी उड़ान के लिए लिए ये सिर्फ 272 लीटर पेट्रोल खर्च करता है. 

देश के पहले सी-प्लेन का उद्घाटन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के पहले सी प्लेन का उद्घाटन कर दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सी प्लेन से केवड़िया से साबरमती की यात्रा पर निकले हैं. इस सी प्लेन सेवा के जरिए लोग अहमदाबाद के साबरमती रिवर फ्रंट से केवड़िया में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक की यात्रा कर सकेंगे. 

पीएम ने किया एकता क्रूज का उद्घाटन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केवड़िया में एकता क्रूज का उद्घाटन किया. इसके बाद में उन्होंने इस क्रूज पर सफर किया. पीएम ने इस क्रूज से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक यात्रा की.  

दिमाग में बाबू मत आने दीजिए- पीएम
प्रधानमंत्री ने ट्रेनी आईएएस अफसरों से कहा है कि अपने दिमाग में बाबू मत आने दीजिए, उन्होंने कहा कि आप कहां से आए हैं इसका ख्याल रखिए. पीएम ने कहा कि अफसरों को Rule और Role का ख्याल रखना चाहिए.  उन्होंने अफसरों से कहा कि आपको ध्यान यह भी रखना है छपास और दिखास का रोग न लगे, नहीं तो आप लक्ष्य हासिल नहीं कर पाएंगे.   

शीर्ष से नहीं चलती हैं सरकारें- पीएम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार शीर्ष से नहीं चलती है, नीतियां जिस जनता के लिए हैं, उनका समावेश बहुत जरूरी है. जनता केवल सरकार की नीतियों की, प्रोग्राम्स की receiver नहीं है, जनता जनार्दन ही असली ड्राइविंग फोर्स है. इसलिए हमें government से governance की तरफ बढ़ने की जरूरत हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश जिस mode में काम कर रहा है, उसमें आप सभी bureaucrats की भूमिका Minimum Government, Maximum Governance की ही है. आपको ये सुनिश्चित करना है कि नागरिकों के जीवन में आपका दखल कैसे कम हो, सामान्य मानवी का सशक्तिकरण कैसे हो. 

स्टील फ्रेम का काम देश को आगे बढ़ाने में सहयोग करना
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्टील फ्रेम का काम सिर्फ आधार देना, सिर्फ चली आ रही व्यवस्थाओं को संभालना ही नहीं होता, स्टील फ्रेम का काम देश को ये एहसास दिलाना भी होता है कि बड़े से बड़ा संकट हो या फिर बड़े से बड़ा बदलाव, आप एक ताकत बनकर देश को आगे बढ़ाने में सहयोग करेंगे, facilitate करेंगे. 

राष्ट्रीय संदर्भ में लें निर्णय-पीएम
गुजरात दौरे के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने IAS प्रोबेशनर्स को संबोधित करते हुए कहा कि IAS अफसरों को सरदार साहब की सलाह थी कि देश के नागरिकों की सेवा अब आपका सर्वोच्च कर्तव्य है. पीएम ने कहा कि मेरा भी यही आग्रह है कि सिविल सर्वेंट जो भी निर्णय लें, वो राष्ट्रीय संदर्भ में हों, देश की एकता अखंडता को मजबूत करने वाले हों.