चेन्नई: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) के बीच आज कोवलम स्थित ताज फिशरमैन होटल के कोव रिसॉर्ट में दूसरी अनौपचारिक मुलाकात हुई. इस दौरान दोनों नेताओं ने होटल में लगाई गई हैंडलूम कलाकृतियों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया, जहां भारतीय पीएम ने मेहमान नेता को सिल्क शॉल भेंट की. खास बात यह है कि शॉल पर राष्ट्रपति जिनपिंग की तस्वीर बनी हुई है. वहीं, जिनपिंग ने भी भारतीय प्रधानमंत्री को एक प्लेट उपहार स्वरूप दी, जिस पर मोदी की तस्वीर छपी हुई है. राष्ट्रपति शी जिनपिंग महाबलीपुरम के कोव रिजॉर्ट से चेन्नई के लिए रवाना हो गए हैं.
इससे पहले, दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत का आयोजन किया गया. इसके बाद भारतीय प्रधानमंत्री ने चीन के नेताओं से कहा, ''मैं आप सभी तहेदिल से स्वागत करता हूं. चीन के स्थापना की 70वीं वर्षगांठ पर वहां के सभी नागरिकों को शुभकामनाएं. ऐतिहासिक शहर चेन्नई हमारे बीच सांस्कृतिक और व्यापारिक संबंधों का साक्षी है. मुझे खुशी है कि आपको यहां की सांस्कृति धरोहरों से परिचित कराने का अनुभव हमें मिला. पिछले दो हजार सालों के अधिकांश कालखंड में भारत और चीन दुनिया की प्रमुख आर्थिक शक्तियां रही हैं. अब इस शताब्दी में हम फिर से साथ-साथ उस स्थिति को प्राप्त कर रहे हैं. पिछले वर्ष वुहान में हमारी अनौपचारिक मुलाकात के बाद दोनों पक्षों के बीच कूटनीतिक बातचीत बढ़ी है. हमने तय किया था कि मतभेदों को झगड़े की वजह नहीं बनने देंगे. चेन्नई समिट में अब तक हमारे बीच द्विपक्षीय और वैश्विक मुदृों पर जरूरी विचारों का आदान-प्रदान हुआ.'' 

स्वागत से अभिभूत हूं
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा, ''भारत में स्वागत मेरे लिए यादगार क्षण है. इस दौरे से भारत-चीन के बीच भावात्मक रिश्ता जुड़ा है. अनौपचारिक वार्ता से रिश्तों में काफी प्रगति हुई है. मोदी के साथ कल और आज कई मुददों पर अच्छी चर्चा हुई. पीएम मोदी और मैंने दोस्तों की तरह बातचीत की. चेन्नई कनेक्ट के जरिए दोनों देशों के बीच सहयोग का एक नया दौर शुरू होगा. इस समिट में हमारे बीच वैश्विक और द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत हुई. हमने तय किया था कि हम मतभेद को मिटाएंगे और कोई विवाद पैदा नहीं होने देंगे.''  इस दौरान भारत की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव विजय गोखले और विदेश मंत्री एस जयशंकर मौजूद हैं.
जिनपिंग के लिए लंच
इसके बाद मेहमान शी जिनपिंग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंच रखा है. इसमें जिनपिंग को लजीज व्यंजन परोसे जाएंगे. दोपहर के भोजन के बाद राष्ट्रपति जिनपिंग 12 बजकर 45 मिनट पर चेन्नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए जाएंगे और दोपहर 1 बजकर 30 मिनट पर विमान से नेपाल के लिए रवाना हो जाएंगे.

दूसरे दिन की मुलाकात
दूसरे दिन की मुलाकात के दौरान पीएम मोदी कुर्ता-पायजामा और जैकेट तो वहीं दूसरी तरफ मेहमान जिनपिंग बिना टाय के ब्लैक सूट-पेंट पहने नजर आए, जो कि दोनों नेताओं की अनौपचारिक मुलाकात को दर्शाता है. इससे पहले, शुक्रवार को पीएम मोदी ने महाबलीपुरम में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का तमिल लिबास में स्वागत किया था. इस दौरान वह वेष्टि (सफेद धोती), आधे बाजू वाले सफेद शर्ट और कंधे पर अंगवस्त्रम के साथ दिखे थे.
मोदी-शी की मुलाकात का कार्यक्रम:-

पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी ताज फिशरमेन्स होटल के कॉव रिज़ॉर्ट एंड स्पा में एक बैठक के बाद दोनों देशों के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई. इस दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल भी मौजूद रहे. दोनों पक्षों ने फिर शिखर सम्मेलन के परिणाम पर अलग-अलग बयान जारी किया.