नई दिल्ली | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जून 2021 में यूनाइटेड किंगडम द्वारा जी 7 शिखर सम्मेलन में अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है। वहीं यूके के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि वह जी 7 शिखर सम्मेलन से पहले भारत का दौरा करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि 'दुनिया की फार्मेसी' के रूप में, भारत पहले से ही दुनिया के 50% से अधिक टीकों की आपूर्ति कर रहा है, और यूके और भारत ने महामारी के दौरान एक साथ मिलकर काम किया है।
बता दें कि इसी माह ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द हुआ है। दरअसल, बोरिस जॉनसन इस बार के गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने वाले थे। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और भारत आने में अपनी असमर्थता व्यक्त की। डाउनिंग स्ट्रीट के एक प्रवक्ता ने बताया कि पीएम ने प्रधानमंत्री मोदी से बात की और कहा कि वह इस महीने के अंत में भारत का दौरा करने में असमर्थ होंगे।
पीएम बोरिस जॉनसन ने अपनी यात्रा रद्द करने पर खेद भी व्यक्त की। बता दें कि कोरोना वायरस के खतरनाक स्ट्रेन की वजह से ब्रिटेन में लॉकडाउन लगाया गया है। तब पीएम मोदी से बातचीत के दौरान पीएम जॉनसन ने कहा था कि उनके लिए यूके में रहना महत्वपूर्ण है ताकि वह वायरस को रोकने के लिए ध्यान केंद्रित कर सकें। फोन पर बातचीत में दोनों देशों के नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों के लिए अपनी साझा प्रतिबद्धता को रेखांकित किया। बोरिस जॉनसन ने पीएम मोदी से कहा कि वह 2021 की पहली छमाही में भारत का दौरा करने में सक्षम होने की उम्मीद करते हैं।