नई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पश्चिम बंगाल के दुर्गा पुजा पंडालों का वर्चुअली उद्घाटन कर रहे हैं. इस दौरान पीएम मोदी ने लोगों को मास्क और दो गज की दूरी का संदेश दिया. उन्होंने कहा कि भक्ति की शक्ति ऐसी है कि मैं दिल्ली नहीं बल्कि बंगाल में ही हूं. जब मां दुर्गा का आशीर्वाद हो तो पूरा देश ही बंगाल हो जाता है.
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस बार हम सभी कोरोना संकट के बीच दुर्गापूजा मना रहे हैं, हर किसी ने अद्भुत संयम दिखाया है. भले ही संख्या पर असर पड़ा हो, लेकिन दिव्यता और भव्यता वही है. यहां दुर्गा को अपनी बेटी माना जाता है और घर में स्वागत किया जाता है. पीएम मोदी ने कहा कि सभी बेटियों को दुर्गा की तरह सम्मान करने की सीख दी जाती है.
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'हमारी मां दुर्गा ‘दारिद्रय दु:ख भय हारिणि’ कही जाती हैं, ‘दुर्गति-नाशिनी’ कही जाती हैं. अर्थात, वो दुखों को, दरिद्रता को, दुर्गति को दूर करती हैं. इसलिए, दुर्गापूजा तभी पूरी होती है जब हम किसी के दुख को दूर करते हैं, किसी गरीब की मदद करते हैं. नारी शक्ति सभी चुनौतियों को परास्त करने की ताकत रखती है. हर किसी को उनके साथ खड़े रहना चाहिए.'
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'भाजपा के विचार यही है, संस्कार यही है और संकल्प भी यही है, इसलिए देश में आज महिलाओं के सशक्तिकरण का अभियान तेज गति से जारी है. रेप की सजा से जुड़े कानूनों को बहुत सख्त किया गया है, दुराचार करने वालों को मृत्युदंड तक का प्रावधान हुआ है. भारत ने जो नया संकल्प लिया है- आत्मनिर्भर भारत के जिन अभियान पर हम निकले हैं, उसमें भी नारी शक्ति की बहुत बड़ी भूमिका है.'
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'बंगाल के इनफ्रास्ट्रक्चर के लिए, कनेक्टिविटी सुधारने के लिए भी लगातार काम हो रहा है. कोलकाता में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर परियोजना के लिए भी साढ़े 8 हजार करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं. केंद्र सरकार ने पूर्वोदय का मंत्र अपनाया है, पूर्वी भारत के विकास के लिए निरंतर फैसले लिए हैं. पूर्वोदय के इस मिशन में पश्चिम बंगाल को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है.'