नई दिल्ली. सुपर साइक्लोन 'अम्फान' (Super Cyclone Amphan) ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भारी तबाही मचाने के बाद गुरुवार को कमजोर पड़ गया. बंगाल में चक्रवात अम्फान ने भारी तबाही मचाई है. पिछले 283 साल में आया ये अब तक का सबसे भयानक चक्रवात था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बंगाल में अम्फान प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद शुरुआती तौर पर 1000 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया है. पीएम मोदी ने कहा कि वह इस दुख की घड़ी में पश्चिम बंगाल के साथ हैं.
कोरोना संकट से निपटने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लागू होने के 57 दिनों के बाद प्रधानमंत्री दिल्ली से बाहर निकले. जनता कर्फ्यू से काउंट करें तो देश में लगे लॉकडाउन को 59 दिन हो गए हैं. इस बीच प्रधानमंत्री दिल्ली में ही रहे हैं. इतने दिनों में उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही देश के अंदर और अंतरराष्ट्रीय बैठकों में हिस्सा लिया. वहीं, लॉकडाउन से पहले पीएम मोदी आखिरी बार 83 दिन पहले 29 फरवरी को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और चित्रकूट के दौरे पर गए थे.

>>पीएम मोदी ने कहा, 'जब देश में कोरोना वायरस का संकट है, तब पूर्वी क्षेत्र में तूफान ने प्रभावित किया. राज्य और केंद्र सरकार दोनों ने इस तूफान को लेकर तैयारी की थी, लेकिन इसके बावजूद 80 लोगों की जान हम नहीं बचा पाए हैं. इस तूफान की वजह से काफी संपत्ति का नुकसान हुआ है, जिसमें घर उजड़े हैं और इन्फ्रास्ट्रक्चर को बड़ा नुकसान हुआ है.'
>>प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में अम्फान प्रभावित इलाकों में मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान किया गया है. पीएण मोदी ने मृतकों के परिजनों को 2 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है.
>>पीएम मोदी बंगाल में अम्फान चक्रवात प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे कर रहे हैं, इस दौरान ममता बनर्जी भी उनके साथ मौजूद हैं. ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से अम्फान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है.
>>बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का शुक्रिया अदा किया है. ममता बनर्जी ने ट्वीट किया- 'राष्ट्रपति ने मुझे फोन कर अम्फान में हुए नुकसान की जानकारी ली. इस संकट में उनके इस सहयोग के लिए मैं उनका आभार व्यक्त करती हूं.'
>>पीएम मोदी कोलकाता एयरपोर्ट पहुंच गए हैं. सीएम ममता बनर्जी ने एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया. इस दौरान बाबुल सुप्रियो, प्रताप चंद्र सारंगी और देवश्री चौधरी भी मौजूद रहे.
>>पीएम मोदी दिल्ली से विशेष विमान से कोलकाता के लिए रवाना हो चुके हैं. पहले वह बंगाल में अम्फान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करेंगे, फिर ओडिशा जाएंगे.


>>PM मोदी ने कहा- मदद में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे
इससे पहले, प्रधानमंत्री ने आज कहा कि चक्रवात से प्रभावित लोगों की मदद के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी. पश्चिम बंगाल में सौ साल के अंतराल में आए इस भीषणतम चक्रवाती तूफान ने मिट्टी के घरों को ध्वस्त कर दिया, फसलों को नष्ट कर दिया और पेड़ों तथा बिजली के खंभों को भी उखाड़ फेंका है.

>>ममता ने कहा- चक्रवात से 72 लोगों की मौत हुई
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने के बाद संवाददाताओं से कहा, 'अब तक हमें मिली खबरों के अनुसार, चक्रवात 'अम्फान' के चलते 72 लोगों की मौत हुई है. दो जिले-उत्तर और दक्षिण 24 परगना पूरी तरह तबाह हो गए हैं. हमें उन जिलों का पुनर्निर्माण करना होगा. मैं केंद्र सरकार से आग्रह करूंगी कि वह राज्य को सभी सहायता उपलब्ध कराए.'

 

>>ओडिशा में चक्रवात से लगभग 44.8 लाख लोग प्रभावित
अम्फान ने ओडिशा में भी भारी तबाही मचाई है जहां तटीय जिलों में विद्युत और दूरसंचार से जुड़ा आधारभूत ढांचा नष्ट हो गया है. ओडिशा के अधिकारियों के आकलन के अनुसार, चक्रवात से लगभग 44.8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.