हर कोई अपने घर में मनी प्लांट लगाते हैं। कहा जाता है कि यह शुभ होता है। घर में पॉजिटिव एनर्जी फील होती है। इसे शुक्र ग्रह का प्रतीक माना जाता है।

इसके हरे रंग से आंखों को काफी सुकून मिलता है। मनी प्लांट लताओं (बेल) वाला पौधा है, ऐसी मान्यता है कि इस प्लांट को लगाने से गुड लक बढ़ता है और घर परिवार में धन एवं समृद्धि आती है। पंडित जय प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि मनी प्लांट को दक्षिण-पूर्व दिशा में लगाना घर के लिए शुभ माना जाता है। इसके पीछे पंडित जय प्रकाश त्रिपाठी ने तर्क देते हुआ कहा कि लता वाले पौधे का स्वामी शुक्र है।

प्रदूषण को रोकने में असरदार होता

इस दिशा में लगा मनी प्लांट बेहद शुभ और फलदायक होता है। कहा जाता है कि प्रदूषण को रोकने में असरदार होता है। यह कार्बन डाई ऑक्साइड सोखता है। ऑक्सीजन देता है। एक इनडोर मनी प्लांट और दूसरा आउट डोर मनी प्लांट, सबसे बड़ी बात ये है कि ये पौधा आपको हर जगह आसानी से मिल जाता है।

यही कहा जाता है कि बेल को जमीन पर नहीं फैलानी चाहिए। हमेशा दीवार और लकड़ी के सहारे ऊपर की ओर बढ़ने देना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में कहा गया है कि मनी प्लांट की बेल जमीन पर फैलेगी तो घर में आर्थिक नुकसान हो सकता है। यदि घर में मनी प्लांट का पौधा पीला हो गया हो या मुरझा गया हो तो शुभ संकेत नहीं है। इस तुरंत हटा देना चाहिए। नहीं तो घर में नकारात्मक ऊर्जा देखी जा सकती है।

सूर्य, मंगल या चंद्रमा के प्रतीक वाले पौधों को मनी प्लांट के पास न रखें

आप शुक्र के शत्रु ग्रहों सूर्य, मंगल या चंद्रमा के प्रतीक वाले पौधों को मनी प्लांट के पास न रखें, मनी प्लांट की बेल जितनी हरी-भरी और ऊपर की ओर जाती है, उतना ही वो उन्नतिकारक मानी जाती है। कहा जाता है कि ये बेल जितना फैलती है, उतना धन समृद्धि बढ़ती है।

वास्तु शास्त्र में ऐसे कई पौधों का ज़िक्र है, जिन्हें धन, समृद्धि व आर्थिक संपन्नता से जोड़कर देखा जाता है। मनी प्लांट को आग्नेय कोण यानी दक्षिण पूर्व में ही लगाएं। मनी प्लांट कभी भी ईशान कोण यानी उत्तर पूर्व की दिशा में नहीं लगाना चाहिए। घर में सुख, समृद्धि और ऐश्वर्य बढ़ता है।