वाशिंगटन । अमेरिका में सत्ता हस्तांकरण क रास्ता साफ हो गया है अंतत: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति पद और व्हाइट हाउस  छोड़ने के संकेत दिए हैं। सोमवार को अगले राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन के लिए रास्ता बनाने वाली सरकारी एजेंसी ने कहा कि वो सत्ता हस्तांतरण में लगाए गए रोक को आखिरकार हटा रही है। इसके बाद ट्रंप ने भी इशारे दिए कि अब जनरल सर्विसेज़ एडमिनिस्ट्रेशन को 'वो करना चाहिए जो करने की जरूरत है।' इस तरह ट्रंप, जो बाइडेन से अपनी जीत स्वीकार करने के बिल्कुल करीब आ गए हैं। दरअसल सत्ता हस्तांतरण के लिए जिम्मेदार संघीय एजेंसी जीएसए की प्रमुख ने कहा था कि वह बाइडेन को व्हाइट हाउस में आने के लिए जरूरी संसाधन मुहैया कराएंगी, जिसके बाद ट्रंप का यह बयान आया है। ट्रंप ने हालांकि इस बात पर भी जोर दिया कि वह 'लड़ाई जारी रखेंगे और जीत हासिल करेंगे।' अमेरिका में तीन नवम्बर को हुए चुनाव में राष्ट्रपति पद के लिए बाइडेनऔर उप राष्ट्रपति पद के लिए कमला हैरिस को विजेता घोषित किया गया है लेकिन ट्रंप ने अभी तक अपनी हार स्वीकार नहीं की है। ट्रंप के अभियान दल ने चुनाव प्रक्रिया में गड़बड़ी एवं धोखाधड़ी के कई मुकदमे दर्ज कराए हैं, जिनमें से कई को अदालतें खारिज भी कर चुकी है।
‘जनरल सर्विस एडमिनिस्ट्रेटर’ (जीएसए) एमिली मर्फी द्वारा नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन को पत्र लिख कर ट्रंप प्रशासन के आधिकारिक तौर पर सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए तैयार होने की जानकारी देने के कुछ घंटों बाद ट्रंप ने इस संबंध में ट्वीट किया। ट्रंप ने ट्वीट किया, 'मैं जीएसए की एमिली मर्फी का देश के प्रति उनके समर्पण और निष्ठा के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। उनको परेशान किया गया, धमकाया गया और गालियां दी गई... और मैं नहीं चाहता कि यह उनके, उनके परिवार या जीएसए के किसी भी कर्मचारी के साथ हो। हमारी लड़ाई जारी रहेगी और मुझे विश्वास है कि हम जीतेंगे।'
निवर्तमान राष्ट्रपति ने कहा, 'हमारे देश के हित में, मैं एमिली और उनके दल को प्रारंभिक प्रोटोकॉल के संबंध में जो किया जाना चाहिए, उसे करने का सुझाव देता हूं और मैंने अपनी टीम से भी यही कहा है।' बाइडेन-हैरिस सत्ता हस्तांतरण दल के कार्यकारी निदेशक योहानेस अब्राहम ने एक बयान में कहा कि जीएसए प्रशासक ने राष्ट्रपति चुनाव में बाइडन और उपराष्ट्रपति चुनाव में हैरिस को चुनाव के स्पष्ट विजेताओं के रूप में मान्यता दी है, नवनिर्वाचित प्रशासन को सत्ता के सुगम और शांतिपूर्ण हस्तांतरण के लिए आवश्यक संसाधन प्रदान किए जा रहे हैं। रिपब्लिकन प्रशासन का जीएसए को आगे की कार्रवाई करने और बाइडेन प्रशासन के साथ काम करने की अनुमति देने से साफ है कि ट्रंप को भी आखिर अंत करीब नजर आ गया है। हालांकि, पिछले तीन हफ्तों से वो बिना किसी सबूत के यह दावे बार-बार कर रहे हैं कि उनसे यह चुनाव 'चुराए गए हैं।' अब इसका मतलब है कि बाइडेन की टीम को फंड, ऑफिस स्पेस और फेडरल अधिकारियों से मिलने का अधिकार मिल जाएगा। बाइडेन के ऑफिस, जिसने इसके घंटों पहले घोषणा की थी कि अमेरिकी विदेश नीतियों और सुरक्षा पदों के लिए बहुत ही अनुभवी लोगों के एक समूह की नियुक्ति होगी, ने कहा कि 'जीएसए अब सत्ता के आसान और शांतिपूर्ण हस्तांतरण में जरूरी मदद की अनुमति दे देगा।'