नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौरान प्रधानमंत्री श्री मोदी  ने ‘लोकल के लिये वोकल’ और ‘आत्मनिर्भर भारत’ के दो मंत्र दिये हैं। उनका मानना है कि देश को अगर मजबूत बनाना है, तो गांवों का विकास जरूरी है। गांवों की आत्मनिर्भरता ही भारत की आत्मनिर्भरता है। देश के गांव बड़ी ताकत हैं और उनका विकास प्रधानमंत्री मोदी का संकल्प है। इसलिए देश को महाशक्ति बनाने, उसे दुनिया की तीन बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में शामिल कराने के लिए पार्टी के कार्यकर्ता प्राणप्रण से गांवों के विकास में जुट जाएं। यह आह्वान केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर ने रविवार को हरियाणा भाजपा की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुंए किया।
- प्रधानमंत्री ने पूरे किये वादे
श्री तोमर ने कहा कि हरियाणा जवानों का देश है। देश अगर आज सुरक्षित है, तो वह इन जवानों की शहादत के दम पर ही है। 2014 से पहले जब मोदी जी प्रधानमंत्री नहीं थे, तब उनकी पहली रैली हरियाणा के रेवाड़ी में ही हुई थी। इस रैली में उन्होंने कहा था कि अगर भाजपा सत्ता में आई, तो हम सेना में वन रैंक, वन पेंशन की व्यवस्था लागू करेंगे। उन्होंने तीनों सेनाओं को मजबूत बनाने और उनके बीच बेहतर तालमेल के लिये चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति की भी बात कही थी। इन दोनों ही वादों को प्रधानमंत्री मोदी जी ने अपने 6 सालों के कार्यकाल में पूरा कर दिया है। उन्होंने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व वाली हमारी केंद्र सरकार सेना को मजबूती देने के लिए जो काम कर रही है, उससे कई दूसरे देश परेशान होने लगे हैं।
- वोट बैंक नहीं, देश के लिये किया काम
श्री तोमर ने कहा कि धारा 370, 35 ए, नागरिकता संशोधन कानून, तीन तलाक, राम मंदिर आदि के जो मुद्दे हैं, ये भारतीय जनता पार्टी के लिए शुरू से ही राजनीति या वोट बैंक तैयार करने का विषय नहीं रहे। पार्टी ने राम मंदिर के लिए देश के करोड़ों लोगों से वादा किया था, भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अपने दायित्व का निर्वाह किया और अब राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। श्री तोमर ने कहा कि डॉ. मुखर्जी के इस बलिदान ने सरकारों को कश्मीर की महत्ता बताई और कश्मीर आज अगर भारत का अंग है, तो डॉ. मुखर्जी के बलिदान के कारण ही है। भाजपा के लिए यह देश की एकता-अखंडता से जुड़ा मुद्दा था, इसलिए मोदी जी ने 2019 में सरकार बनने के तुरंत बाद 370 और 35 ए को हटा दिया। तीन तलाक के कारण देश की लाखों मुस्लिम बहनों पर अत्याचार हो रहा था, इसलिए मोदी सरकार ने तीन तलाक विरोधी कानून बनाया। नागरिकता संशोधन कानून बनाकर मोदी सरकार ने उन लाखों हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई और पारसियों को भारत की नागरिकता मिलने का रास्ता साफ कर दिया, जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से प्रताड़ित होकर आए थे।
- कृषि और किसानों की समृद्धि पहली प्राथमिकता
श्री तोमर ने कहा कि कृषि और किसानों की समृद्धि मोदी सरकार के लिए पहली प्राथमिकता रही है। इसके लिए सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल में भी कई योजनाएं लागू कीं और काम भी किए हैं।हाल ही में प्रधानमंत्री जी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 20 लाख करोड़ का जो पैकेज दिया है, उसमें कृषि और उससे जुड़े व्यवसायों के लिए बड़ी राशि का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि देश के किसानों को सक्षम बनाने और अपने व्यवसाय में स्वतंत्रता देने के लिए हाल ही में मोदी सरकार दो अध्यादेश लाई है। इनके अनुसार किसानों को अपनी सुविधा के अनुसार बाजार और अपनी पसंद का मूल्य चुनने की स्वतंत्रता होगी। उन्होंने कहा कि इस अध्यादेश से मंडियों की व्यवस्था पर कोई असर नहीं पड़ेगा और समर्थन मूल्य पर खरीदी भी जारी रहेगी।