बिलासपुर। घुटकू में हुए रावत नाच महोत्सव में सात नर्तक दल शामिल हुए। धान मंडी प्रांगण में डफली, निशान मोहरी की थाप के बीच तुलसी कबीर के दोहे के साथ नर्तक दल के सदस्यों ने एक से बढ़कर एक कला का प्रदर्शन किया। इसमंे ग्राम परसदा ने बाजी मारते हुए पहला स्थान प्राप्त किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में तखतपुर विधायक डा. रश्मि सिंह उपस्थित रहीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता बिलासपुर के महापौर रामशरण यादव ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रमोद नायक, जिला पंचायत सभापति मीनू सुमंत यादव उपस्थित रही।

निर्णायक मंडल के सदस्यों ने नर्तक दलों को उनके नृत्य, दोहा और प्रदर्शन के आधार पर अंक दिए। इसमें परसदा की टीम को प्रथम पुरस्कार दिया गया। दूसरा भरनी, तीसरा खमतराई, चौथा बसिया, पांचवां निरतू, छठवां घुटकू और सातवां तुर्काडीह के दल को दिया गया। इसमें सभी समाज के लोग शामिल होते हैं।

मुख्य अतिथि विधायक रश्मि सिंह ने कहा कि हमारे प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल के सत्ता में आने के बाद छत्तीसगढ़ के हर त्योहार पर छुट्टी दी जा रही है। संस्कृति विभाग के माध्यम से हमारी परंपरा को आगे बढ़ाने का काम किया जा रहा है। महापौर रामशरण यादव ने कहा कि महंगाई को देखते हुए कांग्रेस की सरकार ने सभी नर्तक दलों को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि को 10 हजार करने की घोषणा की है।

महोत्सव को सफल बनाने विनोद यादव, मनबोध यादव, जिवेंद्र सिंगरौल, राजू साहू, गोविंद यादव, प्रमोद निर्मलकर, शत्रुहन, सुरेश यादव, विष्णु यादव, दीपक रजक, फागूराम, नंद कुमार यादव, रामेश्वर यादव सहित अन्य लोग शामिल थे।