बीजापुर :  मुख्यमंत्री श्री भुपेश बघेल ने विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेशवासियों को विश्व आदिवासी दिवस के उपलक्ष्य में शुभकामनाएं देते हुए संबोधित किया। राज्य सरकार द्वारा जनजातियों के आर्थिक विकास एवं कल्याण के लिए किये जा रहे कार्यों के बारे में बताया। विडियों कान्फ्रेंस में सभी जिलों के कलेक्टर एवं जनप्रतिनिधी सम्मिलित हुए। उक्त अवसर पर वनाधिकार पत्र वितरण सहित प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित भी किया। इस अवसर पर बीजापुर जिले से बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक श्री विक्रम शाह मण्डावी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री शंकर कुडियम, उपाध्यक्ष श्री कमलेश कारम एवं कलेक्टर श्री रितेश कुमार अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी सम्मिलित हुए। इस कार्यक्रम के दौरान वनाधिकार पत्र हितग्राहियों को प्रदान किया गया जिसमें कोरसा मुन्नी/वंजा कोरसा, बुधू तेलम/चिन्ना तेलम , आयती पोटामी/दुलाराम पोटामी, पोदिया कडती/मंगू कडती को व्यक्तिगत वनाधिकार पत्र प्रदान किया गया। सामुदायिक वनाधिकार पत्र के अंतर्गत ग्राम नुकनपाल ग्राम पंचायत चेरामंगी विकासखण्ड उसूर को सामुदायिक प्रयोजन ’’आवर्ती चराई’’ हेतु 100 हेक्टेयर भूमि का वनाधिकार पत्र प्रदान किया गया एवं ग्राम पंचायत मुरकीनार विकासखण्ड उसूर को सामुदायिक प्रयोजन हेतु 50 हेक्टेयर निस्तारी के लिए सामुदायिक वनाधिकार पत्र प्रदान किया गया। सहायक आयुक्त आदिवासी विभाग द्वारा बताया गया कि चयनित 953 व्यक्तिगत वनाधिकार पत्र एवं 1501 प्रकरण सामुदायिक वनाधिकार पत्र प्रदान किया जाएगा। जिनका कुल रकबा 52716 हेक्टेयर है। जिले के प्रतिभावान एवं उत्कृष्ट छात्र-छात्राओं को परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया। जिनमें कक्षा 10वीं एंव 12वीं के 10-10 छात्र-छात्राओं को प्रति छात्र को पांच हजार एक सौ रुपये प्रोत्साहन स्वरुप बस्तर विकास प्राधिकरण द्वारा प्रदान किया गया एवं कलेक्टर श्री रितेश कुमार अग्रवाल द्वारा छात्र-छात्राओं को घड़ी, पेन एवं एक-एक पौधा देकर उत्साहवर्धन किया गया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बस्तर विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक श्री विक्रम शाह मण्डावी ने विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर सभी जिले वासियों को शुभकामनाएं देते हुए वनाधिकार प्राप्त हितग्राहियों को शासन की योजनाओं से जुड़कर अच्छे से कृषि एवं कृषि से संबंधित अन्य रोजगार मूलक कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया। वहीं उन्होनें छा़त्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि बेहतर भविष्य के लिए शिक्षा सशक्त माध्यम है। कलेक्टर श्री रितेश कुमार अग्रवाल ने जिले वासियों को विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वनाधिकार पत्र मिलने से हितग्राहियों को अपने काबिज जमीन से बेदखल होने की चिंता से मुक्ति मिल गयी है, जिससे वे अच्छी तरह खेती-किसानी करेंगे। इसके साथ ही उन्हें फसल ऋण लेने ओर शासन की अन्य योजनाओं से लाभान्वित होने का अवसर मिलेगा।