इन्दौर। विमानतल मार्ग स्थित विद्याधाम पर नवरात्र अनुष्ठान में 21 विद्वानों द्वारा महामंडलेश्वर स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती के सानिध्य एवं आचार्य पं. राजेश शर्मा के निर्देशन में विभिन्न अनुष्ठानों का सिलसिला जारी है। आज सप्तमी के उपलक्ष्य में कन्या पूजन के साथ वेद वेदांग विद्यापीठ के बटुकों एवं भक्तों ने लक्ष्यार्चन आराधना में भी भाग लिया। विद्वानों ने यज्ञशाला में चल रहे सग्रहमख सहस्त्रचंडी महायज्ञ में भी आहुतियां समर्पित की।
आश्रम परिवार के पूनमचंद अग्रवाल, पं. दिनेश शर्मा एवं राजेंद्र महाजन ने बताया कि प्रतिदिन संध्या को 108 दीपों से महाआरती में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु सोशल डिस्टेंस एवं मास्क का प्रयोग करते हुए भाग ले रहे हैं। संध्या को कन्या एवं सौभाग्यवती पूजन का सिलसिला भी चल रहा है। सग्रहमख सहस्त्रचंडी महायज्ञ में स्वाहाकार का क्रम जारी है। समूचा परिसर यज्ञ देवता के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से गूंज रहा है।
:: आज एवं कल विशेष आहुतियां :: 
महायज्ञ में शनिवार 24 अक्टूबर को अष्टमी एवं रविवार 25 अक्टूबर को नवमी एवं दशहरा के संयुक्त पर्व पर मां को प्रिय व्यंजनों से आहुतियां समर्पित की जाएंगीं। मां भगवती का दोनों दिन विशेष श्रृंगार होगा। सौभाग्यवती एवं कन्या पूजन भी होगा। रविवार 25 अक्टूबर को दोपहर में महायज्ञ की पूर्णाहुति होगी। संध्या को विजया दशमी पर शमी पूजन होगा। महाआरती सांय 7 बजे होगी। भक्तों से सोशल डिस्टेंस एवं मास्क का अनिवार्यतः पालन करने का आग्रह पहले दिन से ही किया जा रहा है।