नई दिल्ली | अपने घर-परिवार से दूर दूसरे शहरों में बसे लोगों को चुनाव में वोट देने के लिए घर जाने की जरूरत अब नहीं पड़ेगी। चुनाव आयोग ऐसी योजना पर कामकर रहा है जिससे जल्द ही किसी भी पोलिंग बूथ पर जाकर अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया जा सकेगा। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने बतायाकि मतदाता को देश में किसी भी मतदान केंद्र पर जाकर वोट देने की योजना शुरू करने पर चुनाव आयोग काम कर रहा है। रिमोट वोटिंग के प्रोजेक्ट काजल्द ही मॉक ट्रायल भी शुरू हो जाएगा।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया, 'हमने IIT मद्रास और अन्य संस्थानों के साथ मिलकर रिमोट वोटिंग के प्रोजेक्ट पर पहले ही रिसर्च शुरू कर दी है और इसमें हम आगे भी बढ़ रहे हैं।'

हर चुनाव में हजारों मतदाता ऐसे होते हैं जो भौगोलिक बाधाओं की वजह से अपने वोट देने के अधिकार का इस्तेमाल नहीं कर पाते। नौकरी, पढ़ाई, इलाजया किसी अन्य वजहों से मतदाता उस जगह से दूर रहते हैं जहां उनका नाम मतदाता सूची में है।

रिमोट वोटिंग प्रोजेक्ट ऐसे ही मतदाताओं को वोट के अधिकार का इस्तेमाल करने की इजाजत देगा जो किसी न किसी वजह से अपने मतदान क्षेत्र से दूर रहने को मजबूर हैं। 

चुनाव आयोग विदेशों में रह रहे मतदाताओं के लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा शुरू करने पर भी विचार कर रहा है, जिन्हें मौजूदा व्यवस्था के तहत वोटिंग के लिए अपने मतदान केंद्र पर जाना जरूरी है।