लंदन। ब्रिटेन में हाई रिस्क वाले लोगों को भी घरों से बाहर निकलने की अनुमति दी गई है। ये लाखों लोग  पिछले 10 हफ्तों से अपने घरों में कैद थे। अब सरकार की अनुमति के बाद वो अपने घरों से बाहर आ पाएंगे। ये अनुमति एक्सपर्ट के साथ बातचीत के बाद ली गई है। एक्सपर्ट ने बताया है कि ब्रिटेन में अब एक हजार में किसी एक को ही कोरोना के संक्रमण की संभावना रह गई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कल ये ऐलान कर सकते हैं कि ब्रिटेन के 22 लाख ऐसे लोग, जो कोरोना वायरस को लेकर हाई रिस्क पर थे, वो अपने घरों से बाहर निकल सकते हैं। प्रधानमंत्री बुजुर्गों के लिए भी ऐसा ऐलान कर सकते हैं। ब्रिटेन के बुजुर्ग जो अपने घर में अकेले रहते हैं, वो अब बाहर निकलकर अपने दोस्त परिचितों से मिल सकते हैं। वो एक जगह से दूसरी जगह पर जा सकते हैं। हालांकि इस दौरान उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।
इस नए ऐलान के बाद बड़ी संख्या में लोग राहत की सांस ले सकते हैं। कई ऐसे लोग थे जो दूसरी बीमारियों से जूझ रहे हैं, लेकिन कोरोना के डर से उन्हें अपने घरों में कैद होकर रह जाना पड़ा था। लॉकडाउन के बाद से ही वो अपने घरों में बंद थे।उन्होंने कहा कि ये आपलोगों की कुर्बानी का नतीजा है कि हजारों जिंदगियां बचाईं जा सकीं। बोरिस जॉनसन ने कहा है कि मैं समझ सकता है कि पिछले 10 हफ्तों से घरों में कैद रहना कितना मुश्किल रहा होगा। ये आप सबके लिए कठिन वक्त था। मैं आप सबके धैर्य की सराहना करता हूं। इसके पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना से लड़ने वाले हेल्थ वर्कर्स को शुक्रिया अदा किया। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वो उनसभी लोगों को धन्यवाद कहना चाहते हैं, जो आदेशों का पालन करते हुए अपने घरों में रहे।