लखनऊ. उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Gram Panchayat Chunav 2021) का ऐलान 24 से 26 मार्च के बीच किया जाएगा. राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) 75 जिला पंचायतों, 826 विकास खंडों और 58,194 ग्राम पंचायतों के चुनाव 4 चरणों में कराने की तैयारी कर रहा है. राज्य निर्वाचन आयोग की कोशिश है कि 30 अप्रैल तक चुनाव संपन्न करा लिए जाएं. प्रत्येक चरण में तीन से चार दिन का अंतर होगा. हर जिले में एक ही चरण में चुनाव कराया जाएगा.

पंचायती राज विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 19 मार्च को राज्य सरकार के 4 वर्ष पूरे हो रहे हैं. इस अवसर पर सरकार ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में तीन से चार दिन तक अपने चार वर्षों की उपलब्धि का प्रचार प्रसार करेगी. ऐसे में चार-पांच दिन बाद पंचायती राज विभाग द्वारा अधिसूचना जारी की जाएगी. इसके बाद 25 या फिर 26 मार्च को आयोग द्वारा अधिसूचना जारी हो सकती है.

पंचायती राज विभाग जारी करेगा पहली अधिसूचना 
राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण की फाइनल लिस्ट 17 मार्च तक आएगी. आरक्षण का निर्धारण होने के बाद उसे अंतिम रूप देने में तीन से चार दिन का समय लगेगा. उम्मीद है कि 22 मार्च तक आरक्षण की फाइनल सूची आयोग को मिल जाएगी, जिसे जिला निर्वाचन अधिकारियों को भेजा जाएगा. इसके बाद आयोग की तरफ से चुनाव कराने का प्रस्ताव पंचायती राज विभाग को भेजा जाएगा. आयोग के प्रस्ताव के बाद विभाग पहली अधिसूचना जारी करेगा. इसके अगले दिन निर्वाचन आयोग पंचायत चुनावों की तारीखों का ऐलान और अचार संहिता लागू होने की घोषणा करेगा.
4 चरणों में होगा मतदान 

आयोग के मुताबिक 30 अप्रैल तक चार चरणों में मतदान कराया जाएगा. प्रत्येक चरण के बीच तीन से चार दिन का अंतर होगा. हर जिले में एक ही चरण में चुनाव होगा.