नई दिल्ली | भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा को फेड कप हर्ट पुरस्कार के लिए नामित होने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं. उन्हें एशिया/ओशियाना क्षेत्र से इंडोनेशिया की प्रिस्का मेडेलिन नुगरोरहो के साथ नामित किया गया है.

सानिया ने हाल में चार साल बाद फेड कप टेनिस टूर्नामेंट में वापसी की थी. दर्शकों के बीच अपने 18 महीने के बेटे इजहान की मौजूदगी में सानिया ने भारत को पहली बार फेड कप के प्लेऑफ में जगह दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी.

अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) की विज्ञप्ति में सानिया ने कहा, ‘2003 में पहली बार भारतीय पोशाक में कोर्ट पर उतरना मेरे लिए गौरवपूर्ण लम्हा था. तब से मैंने 18 साल का लंबा सफर तय किया है. भारतीय टेनिस की सफलता में योगदान देकर मैं गौरवांवित महसूस कर रही हूं.’

उन्होंने कहा, ‘पिछले महीने फेड कप के एशिया/ओशियाना टूर्नामेंट में मिला नतीजा मेरे करियर की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है. एक खिलाड़ी कुछ विशेष लम्हों के लिए खेलता है और मैं फेड कप हर्ट अवॉर्ड के चयन पैनल की आभारी हूं कि उन्होंने मुझे यह मान्यता दी.’

हर्ट पुरस्कारों के विजेता का फैसला प्रशंसकों की ऑनलाइन वोटिंग के आधार पर होगा, जो एक मई से शुरू होकर आठ मई तक चलेगी. यह फेड कप हर्ट पुरस्कार का 11वां सत्र है.

यूरोप/अफ्रीका क्षेत्र से एस्टोनिया की एनेट कोनटावीट और लग्जमबर्ग की एलोनोरा मोलिनारो जबकि अमेरिका क्षेत्र से मैक्सिको की फर्नांडा कोंट्रेरास गोमेज और पराग्वे की वेरोनिका केपेड रायग को नामित किया गया है.