मुुंबई | सुशांत सिंह राजपूत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती मुंबई की भायखला जेल में बंद हैं। मुंबई की भायखला जेल में रिया चक्रवर्ती का आज चौथा दिन है और उन्हें अभी फिलहाल 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में रहना है। रिया के पास जेल में न तो बेड है और न ही सेलिंग फैन है। रिया चक्रवर्ती जिस सेल में हैं, उसके ठीक बगल में शीना बोरा हत्याकांड की आरोपी इंद्रीणी मुखर्जी भी रह रही हैं। रिया चक्रवर्ती को जेल में बेड और सेलिंग फैन नहीं मिला है। सूत्रों ने इस टीवी चैनल को बताया कि रिया चक्रवर्ती को भायखला जेल में सोने के लिए चटाई (मैट) दी गई है। उन्हें न तो तकिया मिला है और न ही बेड। अधिकारी की मानें तो अगर कोर्ट इजाजत देता है तो उन्हें एक टेबल फैन मुहैया कराया जाएगा। उनके सेल की खासतौर पर सुरक्षा रखी जा रही है। तीन शिफ्ट में दो-दो गार्ड मौजूद रहते हैं। सूत्रों की मानें तो जेल प्रशासन की ओर से रिया चक्रवर्ती की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें अलग सेल में रखने का फैसला लिया गया है। सुशांत सिंह राजपूत मौत की मुख्य आरोपी होने के नाते उन्हें खतरा हो सकता है। बता दें किया रिया पर सुशांत सिंह के पिता केके सिंह ने अभिनेता को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप लगाया है।

रिया को कोर्ट से भी झटका
सुशांत केस से जुड़े ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती समेत सभी छ: आरोपियों को पिछले सप्ताह एनसीबी ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद कोर्ट ने सबको न्यायिक हिरासत में भेज दिया। शुक्रवार को मुंबई की एक स्पेशल अदालत ने रिया समेत इन सभी आरिपियों की बेल अर्जी खारिज कर दी। इससे पहले मंगलवार को मजिस्ट्रेट अदालत ने रिया चक्रवर्ती को जमानत देने से इनकार कर दिया था। उसके बाद रिया ने जमानत के लिए दूसरी बार प्रयास किया था, जिसमें भी उन्हें झटका लगा। अब रिया चक्रवर्ती हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने पर विचार कर रही हैं। उनके वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि कोर्ट के आदेश की कॉपी मिलने के बाद वह अगले सप्ताह हाईकोर्ट जाने के फैसले पर विचार करेंगे।

एनसीबी लॉकअप बीती थी पहली रात
एनसीबी द्वारा गिरफ्तार किए जाने और कोर्ट में पेश करने के बाद मुंबई के एक स्थानीय मजिस्ट्रेट ने रिया को मंगलवार देर रात 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। क्योंकि जेल मैनुअल के मुताबिक, रात में किसी कैदी की एंट्री नहीं होती, इसलिए रिया को मंगलवार की रात एनसीबी के लॉकअप में ही रखा गया। अगले दिन बुधवार को जेल भेजा गया।