प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में रिश्तों को कलंकित करने वाला मामला सामने आया है. यहां एक नाना को फेसबुक (Facebook) पर प्यार (Love) हो गया. फिर उस फेसबुक प्रेमिका को पाने के लिए उसने अपने ही 15 माह के नाती का अपहरण (Kidnapping) कर लिया. यही नहीं बच्चे को जान से मारने की धमकी भी दी. मासूम के अपहण की जानकारी होने पर पुलिस में हड़कंप मच गया.

48 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा

करेली थाना पुलिस ने बच्चे के अपहरण का मुकदमा दर्ज कर अपहरणकर्ताओं की तलाश में क्राइम ब्रांच को लगा दिया. लेकिन शातिर अपहरणकर्ता फोन से बात नहीं कर रहे थे बल्कि मोबाइल ऐप के जरिए आपस में बातचीत कर रहे थे. जिससे पुलिस अपहरणकर्ताओं तक नहीं पहुंच पा रही थी. इसी बीच क्राइम ब्रांच को कुछ ऐसे सुराग मिले, जिससे आखिरकार अपहरणकर्ताओं तक पहुंच ही गई.

48 घंटे के अंदर पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर उसके माता-पिता को सौंप दिया है. पुलिस ने मुख्य अपहरणकर्ता नन्हे और उसके साथी दिलदार को भी गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस अब दोनों ही आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी कर रही है.


प्यार, धोखे और बदले की कहानी

अब आपको इस मासूम बच्चे के अपहरण की पूरी कहानी बताते हैं. दरअसल 15 माह के बच्चे का उसके रिश्ते के नाना नन्हे ने ही अपहरण कर लिया था. नन्हे सऊदी अरब में रहता था और फेसबुक पर उसकी करेली की एक लड़की से फेसबुक पर दोस्ती हो गई. नन्हे पहले ही शादीशुदा था लेकिन उसने अपनी फेसबुक फ्रेंड को शादी के लिए राजी कर लिया. इस बीच वह भारत आया और अपने भांजे सलमान को लड़की के पास शादी का प्रस्ताव लेकर भेजा.

भांजे सलमान के भांजे का किया अपहरण

यहां कहानी ने नया मोड़ ले लिया. अपने मामा नन्हे की शादी का प्रस्ताव ले जाने वाले सलमान की भी उस फेसबुक फ्रेंड से दोस्ती हो गई. इसके बाद लड़की ने नन्हे से दूरी बना ली. नाराज नन्हे ने अपने भांजे सलमान से बदला लेने की सोची. उसने सलमान के 15 माह के भांजे का 22 सितंबर को अपहरण कर लिया और सलमान को फोन कर अपनी फेसबुक फ्रेंड को वापस करने की मांग करने लगा.

एसएसपी ने पुलिस टीम को दिया इनाम

बच्चे के अपहरण की जानकारी जब उसके पिता करेहदा निवासी मंसूर अली को हुई तो उसने पुलिस में बच्चे के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस ने सर्विलांस और क्राइम ब्रांच की मदद से 48 घंटे के भीतर बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया. एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बच्चे की सकुशल बरामदगी करने और अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी किए जाने पर पुलिस टीम को नकद पुरस्कार से सम्मानित किया है.