भारत की सभ्यता और संस्कृति दुनियाभर में प्रसिद्ध है। देशभर में ढ़ेर सारी मंदिरें हैं, जो अपनी दैविक मान्यता के लिए जाना जाता है। खासकर काशी को धर्म नगरी कहा जाता है। हर साल बड़ी संख्या में श्रद्धालु देवों के देव महादेव की नगरी काशी आते हैं, और बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर उनसे आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। साथ ही देश में कई अन्य देव स्थल हैं, जो अपनी प्रसिद्धि के लिए जाने जाते हैं। अगर आप भी देवी-देवताओं का दर्शन करना चाहते हैं, तो इन धार्मिक शहरों की एक बार जरूर यात्रा करें।

रामेश्वरम

दक्षिण भारत के सबसे लोकप्रिय मंदिरों में से एक है। भगवान श्रीराम ने लंका प्रस्थान के लिए रामेश्वरम में एक पुल बनाया था। आज रामेश्वरम में रामनाथस्वामी मंदिर है। द्रविड़ शैली में निर्मित यह मंदिर विश्व प्रसिद्ध है। इस मंदिर के पास धनुषकोडी मंदिर भी है। आप देव दर्शन के लिए रामेश्वरम की सैर कर सकते हैं।

वाराणसी

इतिहासकारों की मानें तो वाराणसी में तकरीबन 3000 मंदिर हैं। इनमें संकट मोचन मंदिर, ललिता गौरी मंदिर और अन्नपूर्णा देवी मंदिर प्रमुख मंदिर हैं। वहीं, श्री तिलभांडेश्वर महादेव वाराणसी का सबसे पुराना मंदिर है। वाराणसी गंगा नदी के किनारे बसा है। इसके लिए संध्याकाल में गंगा आरती का आयोजन किया जाता है। आप देव दर्शन के लिए वाराणसी की सैर कर सकते हैं।

मदुरई

मदुरै में विश्व प्रसिद्ध मीनाक्षी मंदिर है। यह शहर वैगई नदी के तट पर स्थित है। मदुरई शहर की गिनती धार्मिक शहरों में की जाती है। इस शहर में कूडल अज़गर मंदिर है। इस मंदिर में भगवान श्रीहरि विष्णु जी की प्रतिमा स्थापित है। इसके अलावा, आप मुरुगन मंदिर की भी धार्मिक यात्रा कर सकते हैं। इस मंदिर का निर्माण 6 वीं शताब्दी में किया गया है। आप अपने दोस्तों और प्रियजनों के साथ देव दर्शन हेतु इन मंदिरों की धार्मिक यात्रा कर सकते हैं।