तृणमूल कांग्रेस सांसद (TMC MP) डेरेक ओ ब्रायन ( Derek O'Brien) ने फेसबुक के सीइओ मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने लिखा, 'अगले महीने पश्चिम बंगाल में चुनाव होने वाला है और बंगाल में अकांउट व पेजों को ब्लॉक करने के आपके फैसले फेसबुक और भाजपा के बीच लिंक की ओर इशारा कर रहे हैं। भारत की चुनावी प्रक्रिया में अपने मंच का सम्मान बनाए रखें। ' 

तृणमूल कांग्रेस ने जुकरबर्ग के समक्ष भाजपा के प्रति कथित झुकाव का मामला उठाते हुए दावा किया कि इस मामले में सार्वजनिक तौर पर कई सबूत मौजूद हैं। पार्टी के सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने जुकरबर्ग को लिखे पत्र में उनके साथ पहले की मुलाकात का जिक्र भी किया जिसमें इनमें से कुछ मामलों को उठाया गया था।

पत्र में सांसद ने लिखा- 'हम, ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस पार्टी भारत के दूसरी बड़ी विपक्षी पार्टी हैं और 2014 व 2019 के आम चुनावों फेसबुक की भूमिका को लेकर गंभीरता से विचार किया। इसके बाद हमने यह मामला 2019 के जून में उठाया था। राष्ट्रपति के संबोधन पर चर्चा के दौरान यह मुद्दा उठाया गा था। इसका वीडियो हम इस पत्र के साथ संलग्न कर रहे हैं।' 

 उन्होंने आगे लिखा, 'पश्चिम बंगाल में चुनाव काफी करीब है और हाल में ही आपने बंगाल में अनेकों फेसबुक पेज और खातों को ब्लॉक कर दिया है और इससे यह साफ है कि फेसबुक व भाजपा के बीच कोई लिंक है। इसके अनेकों सबूत मौजूद हैं, जो फेसबुक कंपनी की पक्षपाती रवैया साबित करने को काफी है।'

डेरेक ओ ब्रायन ने सोशल मीडिया कंपनी के प्रमुख से कहा है कि 28 अगस्त, 2020 को तृणमूल कांग्रेस की छात्र इकाई तृणमूल छात्र परिषद के स्थापना दिवस के कार्यक्रम से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस के सैकड़ों समर्थकों के फेसबुक और व्हाट्सऐप अकाउंट को ब्लॉक कर दिया गया। तृणमूल के राज्यसभा सदस्य ने बैन किये गये तमाम अकाउंट्स की लिस्ट अपनी चिट्ठी में फेसबुक प्रमुख को भेजी है।