• किल कोरोना अभियान के तहत लिया गया निर्णय

भोपाल । मप्र में कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने सरकार को चिंता में डाल दिया है। प्रदेश में जब से अनलॉक किया गया है, तब से कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसको देखते हुए सरकार ने रविवार को पूरे प्रदेश में लॉकडाउन की घोषणा की है। यानी रविवार को पूरा मप्र बंद रहेगा।प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बुधवार को मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि किल कोरोना अभियान के तहत यह निर्णय लिया गया है कि रविवार को लॉकडाउन रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में है। लेकिन दूसरे प्रदेश से लोगों के आने से यहां संक्रमण बढ़ रहा है। इसलिए रविवार को पूरा प्रदेश बंद रहेगा।


प्रदेश की सीमाओं पर होगी जांच
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश की सीमाओं पर चौकसी बढ़ाने का निर्देश दिया है। साथ ही दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोगों की जांच का निर्देश दिया गया है।


पुलिस बनाएगी चालान
मिश्रा ने कहा कि कोरोना पर नियंत्रण के लिए अब सख्ती बरती जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर कोई मास्क नहीं लगाएगा तो अब पुलिस चालान बनाएगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में किल कोरोना अभियान के तहत अभी तक 42 प्रतिशत लोगों का सर्वे किया जा चुका है।


मुख्य सचिव एवं डीजीपी तैयार करें मैकेनिज्म
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य डॉ मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे। बड़वानी, मुरैना एवं अन्य सीमावर्ती जिलों की समीक्षा के दौरान यह तथ्य सामने आया कि वहां कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। वहां सीमा पार दूसरे प्रांतों में संक्रमण अधिक होने से इन जिलों में संक्रमण बढ़ रहा है। इस पर मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव एवं डीजीपी को निर्देश दिए कि वे इस संबंध में मैकेनिज्म तैयार कर पब्लिक एडवाइजरी जारी करें। हमें प्रदेश में हर स्थान पर कोरोना संक्रमण को बढऩे से हर-हाल में रोकना है।


सैनिटाइजर नहीं तो जुर्माना
चौहान ने निर्देश दिए कि प्रदेश में मास्क का प्रयोग अनिवार्य किया गया है। इसी प्रकार शॉपिंग मॉल, कार्यालयों आदि मैं सैनिटाइजर रखना आवश्यक है। ऐसा न करने पर जुर्माना किया जाए। सभी स्थानों पर फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन हो, अन्यथा कार्रवाई की जाएगी।


किल कोरोना अभियान के अच्छे परिणाम
बैठक में सुलेमान ने बताया कि प्रदेश में किल कोरोना अभियान के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। पहले प्रदेश में टेस्टिंग क्षमता 6000 टेस्ट प्रतिदिन थी, जो इस अभियान के चलते 12104 पहुँच गई है। किल कोरोना अभियान के अंतर्गत लिए गए सैंपल की पॉजिटिविटी दर 2.2 प्रतिशत आ रही है जो कि अच्छे संकेत हैं।