भाजपा कोरोना वैक्सिन के सहारे
कांग्रेस ने 7 माह के घोटाले गिनाए

भोपाल । मप्र में 28 सीटों पर हो रहे विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र को संकल्प पत्र का नाम दिया है, तो कांग्रेस वचन पत्र। बुधवार को भाजपा के तमाम बड़े नेताओं ने विधानसभा स्तर पर अलग-अलग यह संकल्प पत्र जारी किए हैं। भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा किया है। वहीं कांग्रेस ने आरोप पत्र जारी करते हुए भाजपा सरकार के 7 माह के शासनकाल में हुए 17 घोटाले गिनाया है।
प्रदेश के लिए हमारे संकल्प शीर्षक के तहत किए गए इस वादे में लिखा गया है कि प्रदेश सरकार कोरोना की विषम परिस्थितियों का मुकाबला कर रही है और वह यह वादा करती है कि प्रदेश की जनता को मुफ्त में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अलावा संकल्प पत्र में स्थानीय मुद्दों को लेकर अलग से एक कॉलम बनाया गया है जिसमें स्थानीय विकास के मुद्दों को लिखा गया है। संकल्प पत्र में किसानों के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदमों और योजनाओं का जिक्र भी किया गया है।

महामारी का राजनीतिक फायदा उठाने का आरोप
संकल्प पत्र में मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा किए जाने पर कांग्रेस ने भाजपा पर निशाना साधा है कांग्रेस का आरोप है कि अभी वैक्सीन आई भी नहीं है और भाजप उसे बांटने की बात कर रही है। कांग्रेस के आरोपों के मुताबिक भाजपा कोरोना जैसी बीमारी का भी राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश कर रही है आपको बता दें कि भाजपा के संकल्प पत्र से पहले कांग्रेस उपचुनाव के लिए अपना वचन पत्र जारी कर चुकी है।

7 में 17 घोटाले
7 महीने पुरानी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कटघरे में खड़ा करने के लिए कांग्रेस द्वारा बुधवार को आरोप पत्र में 17 घोटाले गिनाए गए हैं। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव, अजय सिंह और सज्जन सिंह वर्मा ने आरोप पत्र में जिन घोटालों का जिक्र किया है, वह अधिकतर कोरोनाकाल से जुड़े हैं। इनमें आटा घोटाला, त्रिकुट चूर्ण, शराब एमआरपी में गड़बड़ी, पीपीई किट घोटाला, मध्यान्ह भोजन घोटाला, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि घोटाला, सौभाग्य योजना घोटाला, चावल घोटाला, किसानों की सब्सिडी हड़पने का घोटाला, तबादला उद्योग घोटाला, अन्य प्रदेशों के गरीबों का चोरी का खाद्यान्न शासकीय खरीदी में लेने का घोटाला, फर्जी बिल बिजली बिल घोटाला, फर्नीचर खरीदी घोटाला, किसानों की सब्सिडी हड़पने का घोटाला, प्रधानमंत्री कृषि विकास योजना घोटाला, बायो-फर्टिलाईजर घोटाला और प्रवासी मजदूर को बांटे गए भोजन में भी घोटाला बताया गया है।  


सिंधिया को भी बताया माफिया  
यहां सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि पिछले 7 महीनों में प्रदेश को दो माफिया फिर से मिल गए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज चौहान को रेत का तो ज्योतिरादित्य सिंधिया को भू माफिया बताते हुए कहा कि यह लगातार ग्वालियर चंबल क्षेत्र की सरकारी और निजी जमीनों पर कब्जे कर रहे है। इन्होंने ही कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को गिराया और अब शिवराज के साथ मिलीभगत करके वह जमीनों का खेल कर रहे हैं।


किसके वादों में है कितना दम, कांग्रेस के वचन पत्र में 52 वायदे
-100 रुपये में 100 यूनिट बिजली।
-किसानों का कर्जा माफ करने की घोषणा।
-कर्मचारी आदिवासी उद्योग व्यापार रोजगार युवाओं महिला सामाजिक न्याय और सुरक्षा में किसानों के मुद्दे पर बड़े ऐलान।
-शुद्ध के लिए युद्ध अभियान चलाने का जिक्र।
-सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ाने का ऐलान।
-महिला स्व सहायता समूहों को 5 लाख तक का लोन देने की घोषणा।
-कोरोना से मरने वालों को पेंशन।
-किसान बिल नहीं लागू करने का वचन।
-किसानों की उपज समर्थन मूल्य पर खरीदने का ऐलान।
भाजपा का संकल्प पत्र
-मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने का वादा।
-स्थानीय मुद्दों के लिए संकल्प पत्र में अलग से एक कॉलम।
-किसानों के लिए सरकार की योजनाओं का जिक्र।
-0 प्रतिशत ब्याज पर फसल बीमा योजना फिर से शुरू करने का ऐलान।
-सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के तहत लगभग 4517000 हितग्राहियों के खातों में 1988 करोड़ रुपए की पेंशन राशि जमा कराई गई।
-गरीबों के लिए संबल योजना।
-पीएम मोदी ने दोबारा शुरू की गई किसान सम्मान निधि के तहत किसानों के खाते में आएंगे 10 हजार सालाना।
-राशन कार्ड वाले 37 लाख गरीब परिवारों को खाद्यान्न पर्ची के जरिए नियमित राशन।
-6000 करोड़  की लागत से 310 किलोमीटर लंबे चंबल के बीहड़ में चंबल प्रोग्रेस वे का निर्माण।


मैं नालायक, कमीना और भूखा-नंगा : शिवराज
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अनूपपुर विधानसभा के फुनगा में बिसाहूलाल सिंह के लिए प्रचार करते हुए कहा- कल एक नेता दिल्ली से आए और कहते हैं शिवराज कमीने हैं। एक कांग्रेस नेता कहते हैं कि मैं नंगा हूं। चौथी बार जो मुख्यमंत्री है, उसे नालायक, कमीना, भूखा नंगा कहा जा रहा है। कमलनाथ तुम्हें धन का घमंड होगा, लेकिन यह जनता घमंड सहन नहीं करेगी। इसे चूर-चूर कर देगी। शिवराज ने कहा- क्या मध्यप्रदेश के बेटे को गालियां दी जाएंगी रोज? क्या कमीना कहने का अधिकार है तुम्हें? क्या राजनीति में मुद्दा यही है कि शिवराज कमीना है, नंगा-भूखा है। क्या कांग्रेस का यही एजेंडा है। सवा साल में कांग्रेस ने मध्य प्रदेश को तबाह और बर्बाद कर दिया, वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था।
शिवराज ने आगे कहा- कमलनाथ-दिग्विजय सिंह ने महापाप किया, बड़े पदों की बोलियां लगती थी। विधायकों व मंत्रियों के लिए टाइम नहीं होता था, लेकिन कोई दलाल और बड़ा उद्योगपति आ जाता था तो द्वार खुल जाता था। आपने लोकतंत्र को अपमानित किया है।


अभी तो विकास का ट्रेलर है
शिवराज ने कहा- हम जनता को प्रणाम करते हैं तो कमलनाथ कहते हैं कि मैं घुटने टेकता हूं। गरीबों की सेवा के आनंद का कमलनाथ तुम कल्पना नहीं कर सकते। मेरे कितने नाम रख दिए, घुटने टेक, नारियल लेकर चलता है, अब कहते हैं कि नारियल का ट्रक लेकर चलता है। विकास करेंगे तो नारियल फोड़ेंगे ही। अभी तो ये विकास का ट्रेलर है।


सौदेबाजी की सरकार बनने पर मनाया जा रहा उत्साह: कमलनाथ
उपचुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस के दिग्गज नेता पूरी ताकत झोक रहे हैं। बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ काग्रेस प्रत्याशी रामसिया भारती के पक्ष में बड़ामलहरा में एक जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। कमलनाथ ने राज्य सरकार पर तंज कसने का मौका नहीं छोड़ा। नाथ ने कहा कि, हम प्रजातंत्र में जीत का उत्साह मनाते, लेकिन यहां सौदेबाजी की सरकार बनने पर उत्साह मनाया जा रहा है। भाषण के दौरान रामसिया भारती भावुक हो गई। रामसिया ने कहा, बड़ा मलेहरा की जनता मेरी मां-बाप और भाई-बहन हैं। वही मेरा निणर्य करेगें। ये कहते ही रामसिया रोने लगी। इस सीट पर यादव मतदाता अधिक होने की वजह से कमलनाथ ने काग्रेस की पूर्व विधायक रही स्वगीर्य उमा यादव को भी याद किया। साथ ही कमलनाथ ने जिले के रेत माफिया चरण सिंह यादव को मंच पर बुलाकर काग्रेस में शामिल कर लिया।