शिक्षा मंत्रालय ने अपने ट्विटर हैंडल पर सीबीएसई द्वारा एक वीडियो पोस्ट किया है, जो छात्रों को स्वच्छ भारत मिशन के हिस्से के रूप में स्वच्छता के लिए लड़कर 'भारत छोड़ो गंदगी आंदोलन' में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करता है. इस वीडियो को सीबीएसई ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर भी शेयर किया है.
ये वीडियो भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ पर शेयर किया गया था. इस आंदोलन को महात्मा गांधी ने 8 अगस्त, 1942 को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के बॉम्बे सत्र में शुरू किया था.
शिक्षा मंत्रालय के ट्वीट में कहा गया, "#QuitIndiaMovement की सालगिरह पर हम आपके लिए #GandagiMuktBharat Abhiyaan लेकर आए हैं. “हम सभी छात्रों और शिक्षकों से #QuitIndiaGandagi आंदोलन में भाग लेने और अपने आस पास की जगहों को स्वच्छ रखने में मदद करने का आग्रह करते हैं इसे #SwachhBharatMission से भी जोड़ा है.
स्वच्छता को बढ़ावा देने वाला सीबीएसई वीडियो क्या कहता है?
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने आकर्षक वीडियो में स्वच्छता के महत्व और अगस्त में 'स्वच्छता' अभियान शुरू करने के बारे में बात की गई है.
इसमें भारत छोड़ो नारे (Quit India slogan) का इस्तेमाल करते हुए हमारे शहरों, घरों, सड़कों, बाजारों और स्कूलों से हर तरह की गंदगी को खत्म करने का आग्रह किया गया है. वीडियो में छात्रों को सलाह दी जा रही है, उन्हें अपने घरों में स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए और कचरे का उचित निपटान करना चाहिए.
यह सार्वजनिक स्थानों पर कचरा न फेंकने की भी सलाह देता है. यह लोगों को "सफ़ाई गुरु" या स्वच्छता के स्वामी बनने के लिए प्रोत्साहित करता है, जो दूसरों को एक स्वच्छ भारत के लिए स्वच्छ रहने के तरीके सिखा सकते हैं. वीडियो में लोगों को "झाड़ू उठाने" के लिए कहा जाता है, जिसके साथ वे फेमस हीरो बन सकते हैं.