बिलासपुर । विकास भवन नगर निगम कार्यालय में  सुबह महापौर रामशरण यादव औचक निरीक्षण के लिए पहुंचे, इस दौरान कई अधिकारी कर्मचारी नदारद रहे। कुछ विभागो में अधिकारियों कर्मचारियों की उपस्थिति पंजी में मेंटेन तो हो रही थी। लेकिन उसमें नियमित रुप से संबंधितों द्बारा उपस्थिति हस्ताक्षर नहीं किया जा रहा है। इस पर महापौर ने नाराजगी जाहिर करते हुए उक्त व्यवस्था में सुधार लाने व कार्यालय में अनुशासन बनाये रखने के निर्देश दिए, साथ ही अनुपस्थित अधिकारियों, कर्मचारियों को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। महापौर रामशरण यादव ने कहा कि मेयर इन काउंसिल की बैठक में निर्देशित किया गया था कि समस्त अधिकारियों एवं अभियंताओं को सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक अनिवार्य रुप से कार्यालय में उपस्थित रहकर कार्य संपादन करना है एवं आम नागरिको की समस्याओं के त्वरित निराकरण किए जाने के निर्देश दिए गए थे। इसके बावजूद कई अधिकारी कर्मचारी कार्यालय से नदारद रहते हैं, ऐसी शिकायत मिल रही थी। जिसके बाद मंगलवार को विकास भवन नगर निगम कार्यालय में निरीक्षण कर व्यवस्था का जाएजा लिया गया। साथ ही अनुपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों को हिदायद दी। निरीक्षण के दौराना संपदा शाखा में पदस्थ लक्ष्मीकांत कोका अनुपस्थित पाए गए साथ ही उनके टेबल में 7 जनवरी को महापौर द्बारा मार्क किये गये एक पत्र को कार्यवाही के लिए भेजा गया था, जो उनके टेबल में लंबित रखा मिला। उनकी इस लापरवाही पर भी महापौर रामशरण यादव ने गंभीर नाराजगी जाहिर करते हुए उक्त कर्मचारी के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किये जाने हेतु अनुशंसित किया। निरीक्षण के दौरान एमआईसी सदस्य अजय यादव व राजेश शुक्ला भी उपस्थित रहें।
कार्यालय में साफ-सफाई रखने के निर्देश
विकास भवन में निरीक्षण के दौरान महापौर रामशरण यादव ने एमआईसी सदस्यों को आबंटित कमरों में साफ-सफाई न होने पर संबंधित सुपरवाईजर व सफाई कर्मचारी के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने तथा नियमित रुप से सुबह 10 बजे तक सफाई कराने के हेतू निर्देशित किया गया।
ये कर्मचारी रहें नदारद
अजय श्रीवासन प्रभारी कार्यपालन अभियंता, भूषण पैकरा उप अभियंता, विजय पाण्डेय  राजस्व अधिकारी, राजेंद्र पात्रे प्रभारी राजस्व अधिकारी, अनुपम तिवारी कार्यपालन अभियंता,  लक्ष्मीकांत कोका  लिपिक
शिकायत मिलने पर किया गया निरिक्षण
नगर निगम कार्यालय में समस्याओं को लेकर आने वाले नागरिको को कार्यालय में अधिकारी नहीं मिलते। जिसकी शिकायत मिल रही थी। इस पर निरीक्षण कर अनुपस्थित अधिकारी कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिया गया है।