नई दिल्ली । केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि भारतीय नौसेना अगले दस सालों में पोत और पनडुब्बियों की खरीद के 51 अरब डॉलर (3.5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा) के ऑर्डर जारी कर सकती है। नाइक ने गोवा शिपयार्ड लिमिटेड (जीएसएल) और मझगांव डाक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएसएल) में संभावना विषय पर उद्योग मंडल सीआईआई द्वारा आयोजित एक वीडियो कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए यह बात कही।
नाइक ने कहा कि भारतीय नौसेना का 60 प्रतिशत से ज्यादा बजट पूंजीगत खर्च के लिए रखा गया है। इस पूंजीगत बजट का 70 प्रतिशत हिस्सा देश से खरीद पर खर्च किया गया है। इस तरह पिछले पांच साल में करीब 66,000 करोड़ रुपए की खरीद घरेलू स्तर पर की गई है। नाइक ने कहा कि पड़ोसी देशों और भू-राजनीतिक स्थिति को देखते हुए समंदर में देश की सुरक्षा महत्वपूर्ण हो गई है। इस काम में शिपयार्ड का रोल अहम होगा। नाइक ने कहा कि हमारा समुद्र तट काफी विशाल है और इसकी ठीक तरह से सुरक्षा के लिए हमें निगरानी बढ़ानी होगी। यही वजह है कि भविष्य की सैन्य रणनीतियों में समुद्री निगरानी को अहम स्थान दिया गया है।