नई दिल्ली । कभी-कभी देखा जाता है कि किसी भोजन के चलते शरीर में दिक्कतें होने लगती हैं, इसे फूड एलर्जी कहते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि किसी खाद्य पदार्थ को पंसद न करना भी फूड एलर्जी का कारण बनता है। फूड एलर्जी होने से कई समस्याएं हो जाती हैं। कुछ लोगों को फल या सब्जी खाने पर भी फूड एलर्जी की समस्या हो जाती है। फूड एलर्जी से बचने के लिए कुछ सावधानियां बरतनी पड़ती है। जिस खाद्य पदार्थ से एलर्जी हो उसे खाने से बचना चाहिए। इसके साथ ही इस बात की जांच भी करें कि आपको किस खाद्य पदार्थ से एलर्जी होती है। इसके बाद उन आहारों को अपने खाने में शामिल करने से बचें। फूड एलर्जी में केला बहुत असरकारक होता है। केले में पाए जाने वाले पोषक तत्व फूड एलर्जी के बाद होने वाली दिक्कतों को को कम करने में मदद करते हैं। इसलिए फूड एलर्जी से पीड़ित लोगों को केले का सेवन करना चाहिए। नींबू फूड एलर्जी में बहुत काम आता है। नींबू के रस को पानी और शहद के साथ पीने से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। शरीर में पाए जाने वाले विषाक्त पदार्थ इम्‍यून सिस्‍टम को असंतुलित कर फूड एलर्जी की समस्या पैदा करते हैं। गाजर के रस में विटामिन सी होता है। यह हमारे शरीर से रोगों को दूर रखने में मदद करता हैं। इसके अलावा फूड एलर्जी में गाजर, चुकंदर और खीरे के रस को मिलाकर पीने से फायदा होता है। फूड एलर्जी से बचने के लिए केस्टर ऑयल फायदा करता है। केस्टर ऑयल से पेट में आपके अमाशय के ऊपर एक परत बनाकर फूड एलर्जी के प्रभाव को कम करने में सहायक होता है। इसके अलावा अलसी का तेल भी फूड एलर्जी में फायदा करता है। यहां बता दें कि भोजन हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है। भोजन न केवल हमारा पेट भरता है बल्कि इससे शरीर को पोषण मिलता है और यह हमारा इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत करता है।