महाराष्ट्र में भारी बारिश के बाद रायगढ़ जिले के महाड गांव में लैंडस्लाइड होने की वजह से 30 लोगों की मौत हो गई है। पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि चट्टान खिसकने की इस घटना में मरने वालों की संख्या में और इजाफा हो सकता है, क्योंकि अब भी कई लोगों के फंसे होने की आशंका है। बता दें कि महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश की वजह से बाढ़ जैसे हालात हैं और कई जगहों पर लैंडस्लाइड की खबर है। 


अधिकारियों ने कहा कि महाड में भूस्खलन स्थल से 30 शव बरामद किए गए हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि और लोगों के फंसे होने की आशंका है। अधिकारी ने बताया कि एनडीआरएफ की एक टीम मुंबई से करीब 160 किलोमीटर दूर महाड पहुंच गई है और दूसरा दल वहां जल्द पहुंचेगा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे हालात की समीक्षा कर रहे हैं। 

रायगढ़ जिला संरक्षक मंत्री अदिति तटकरे के अनुसार, महाड के पास तलाई गांव में भूस्खलन के बाद बचाव दल की एक टीम ने मलबे से 30 शव निकाले हैं। गुरुवार की देर रात पहाड़ी के हिस्से के खिसकने से कुछ घर भूस्खलन की चपेट में आ गए। उन्होंने कहा कि 20 स्थानीय बचाव दल मलबा हटाने में लगे हैं, जबकि एनडीआरएफ और पुलिस लापता लोगों की तलाश कर रही है।


अदिति तटकरे के मुताबिक, स्थानीय प्रशासन अब बरामद शवों की पहचान करने में जुट गया है तटकरे ने कहा कि भारी बारिश के कारण हुए भूस्खलन की चपेट में करीब 25-30 घर आ गए। तलाई गांव एक पहाड़ी पर स्थित है।