महेंद्र सिंह धोनी को मैदान पर दौड़ते हुए देखने के बाद लोगों की सांसें अटक जाती हैं। 39 साल की उम्र में भी उन्होंने मैदान में कई ऐसी चीज की हैं जो उनकी फिटनेस के कारण ही संभव हो सकी। आइए उनकी फिटनेस से जुड़ी कुछ खास बातें आपको बताते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी आज 40 साल के हो चुके हैं। सोशल मीडिया पर उनके फैंस उन्हें जन्मदिन की बधाई दे रहे हैं। एक समय ऐसा भी था जब महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर खेलते थे तो लोगों की सांसें अटक जाती थीं। आपने कई ऐसे वीडियो में देखा होगा कि महेंद्र सिंह धोनी की दौड़ ने लोगों को हैरत में डाल देती है कि 39 साल की उम्र में भी कोई इंसान इतना तेज कैसे दौड़ सकता है।
यह मुमकिन है, लेकिन इसके लिए धोनी ने अपनी डाइट और फिटनेस को उसी हिसाब से मेंटेन भी रखा है। आज उनके जन्मदिन पर हम आपको उनके डायट और फिटनेस सीक्रेट के बारे में बताएंगे।

महेंद्र सिंह धोनी नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं और यही वजह है कि उन्होंने अपनी फिटनेस को इस तरह से मेंटेन रखा है। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने बताया है कि वन लेग डेड लिफ्ट, रिवर्स लंग्स, लेटरल पुल डाउन, वी ग्रिप पुल डाउन, डंबल लंग्स, डंबल चेस्ट प्रेस को प्रमुखता से करते हैं। बॉडी बिल्डर्स की मानें तो इन एक्सरसाइज फिटनेस पाना बहुत आसान रहता है।
एक्सरसाइज के अलावा धोनी कुछ अन्य स्पोर्ट्स को खेलना भी बहुत ज्यादा पसंद करते हैं जिससे वह अपनी बॉडी की ज्यादा कैलरी को खर्च कर सकते हैं। इसके लिए बार बैडमिंटन और टेनिस को अपनी सेकेंडरी चॉइस में रखते हैं। इन खेलों के दौरान न केवल किसी व्यक्ति की एक्सरसाइज होती है बल्कि उसके शरीर की सारी मांसपेशियां भी एक्टिव रूप से कार्य करने लगती हैं।
​डायट प्लान, जिसके बारे में जरूर जानना चाहिए
धोनी की पसंदीदा डायट क्या है? यह तो हर कोई जानना चाहता है क्योंकि उनके जैसी चीते की रफ्तार इंडियन टीम में किसी के पास भी नहीं है। धोनी सुबह सुबह नाश्ते में ब्रेड या पराठा के साथ एक गिलास दूध का सेवन करना पसंद करते हैं। भारी भरकम एक्सरसाइज करने के बाद महेंद्र सिंह धोनी प्रोटीन शेक या फिर किसी फ्रूट जूस को अच्छी मात्रा में पीते हैं। लंच के समय में व दाल, चिकन, सीजनल सब्जियां रोटी और सलाद का सेवन करते हैं।
महेंद्र सिंह धोनी अपनी फिटनेस का विशेष ध्यान रखने के लिए यह डाइट और एक्सरसाइज के साथ-साथ भरपूर नींद भी लेते हैं। भरपूर नींद लेने के कारण किसी भी व्यक्ति के शरीर को कई प्रकार की बीमारियों का खतरा भी कमजोर हो जाता है और अगली सुबह उठने के बाद उसका शरीर भी काफी एक्टिव रहता है। यही वजह है कि धोनी भरपूर नींद लेना पसंद करते हैं और वह अपने फिटनेस के नियमों के साथ किसी भी प्रकार का कॉम्प्रोमाइज नहीं करते हैं।