सपा मुखिया अखिलेश यादव और रालोद के राष्ट्रीय महासचिव जयंत चौधरी के बीच लोकसभा चुनावों में गठबंधन को लेकर मंगलवार को आखिरी दौर की बातचीत लखनऊ में होगी। उसके बाद दोनों नेता मीडिया से रूबरू होंगे। 

सपा-बसपा गठबंधन में रालोद शामिल है। सपा-बसपा ने अपनी सूची में रालोद के लिए तीन सीटें बागपत, मुजफ्फरनगर और मथुरा को छोड़ दिया है। हालांकि, रालोद चार सीटों पर दावा कर रहा है। इस बीच, यह खबर आई थी कि रालोद कांग्रेस के साथ भी पींगे बढ़ा रहा है। लेकिन पिछले दौरे में रालोद नेता जयंत चौधरी ने यह साफ कर दिया था कि सीटों से ज्यादा महत्वपूर्ण आपस के रिश्ते हैं और रालोद सपा-बसपा गठबंधन में शामिल है। शायद इसी की आधिकारिक घोषणा मंगलवार को दोनों नेता संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में करेंगे। 

यह भी माना जा रहा है कि इस बार गठबंधन से अपने कोटे में मिली बागपत से जयंत चौधरी और मुजफ्फरनगर से चौधरी अजित सिंह लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। वहीं, मथुरा लोकसभा चुनाव में विधानसभा के पूर्व उप नेता सादाबाद से विधायक रहे डॉ. अनिल चौधरी का नाम बड़े जोर-शोर से चल रहा है। डॉ. अनिल पश्चिमी उत्तर प्रदेश की रालोद इकाई के अध्यक्ष भी हैं। चर्चा यह भी है कि सपा चाहती है कि रालोद कोटे में दी गई मथुरा सीट से सपा के प्रत्याशी एमएलसी संजय लाठर को चुनाव लड़ाया जाए। वहीं कुछ लोग जयंत चौधरी की पत्नी को वहां से चुनाव लड़ाने पर जोर दे रहे हैं, लेकिन जयंत इसके लिए तैयार नहीं हैं। अब देखना यह होगा कि दोनों नेताओं के बीच मंगलवार को क्या तय होता है।