अहमदाबाद | राज्य चुनाव आयोग अगले सप्ताह नगर निगम, पालिका, जिला और तहसील पंचायतों में चुनावों का ऐलान कर सकता है| स्थानीय निकाय चुनावों को देखते हुए राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने आगामी रविवार तक व्यस्त कार्यक्रम बनाए हैं और इस वजह से आज होनेवाली कैबिनेट की बैठक भी रद्द कर दी गई है| सूत्रों के मुताबिक सोमवार को महानगर पालिका, नगर पालिका, जिला और तहसील पंचायतों के चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जा सकता है और 25 फरवरी से पहले मतदान प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी| राज्य चुनाव आयोग ने ईवीएम बनाने वाली भारत सरकार की कंपनी भारत इलेक्ट्रोनिक्स लिमिटेड से 7-8 हजार ईवीएम मांगे थे| लेकिन कंपनी ने कहा कि कोरोनाकाल में उत्पादन प्रभावित होने की वजह से फिलहाल ईवीएम उपलब्ध कराना संभव नहीं है| जिससे अब राज्य चुनाव आयोग को 2015 से पहले आयोजित चुनाव के दौरान प्राप्त 21500 ईवीएम से काम चलाना होगा| बता दें कि राज्य की 6 महानगर पालिका, 55 नगर पालिका, 31 जिला पंचायत और 231 तहसील पंचायतों की की अवधि 2020 में पूर्ण हो चुकी है| लेकिन कोरोना महामारी के चलते राज्य चुनाव आयोग ने इनकी अवधि तीन महीने के लिए बढ़ा दी थी| स्थानीय निकाय चुनावों का ऐलान से पहले ही भाजपा और कांग्रेस ने तैयारियां शुरू कर दी हैं| दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने स्थानीय चुनाव को लेकर प्रचार शुरू कर दिया है| असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने गुजरात में स्थानीय निकाय चुनाव लड़ने का ऐलान कर राजनीतिक माहौल गरम कर दिया है| एआईएमआईएम ने छोटु वसावा की बीटीबी के साथ गठबंधन किया है| इतना ही नहीं ओवैसी ने अहमदाबाद के जमालपुर क्षेत्र के कांग्रेस के पूर्व विधायक साबिर काबलीवाला को पार्टी का प्रदेश प्रमुख भी बना दिया है|