रांची। सभी प्रवासी मजदूरों की फ्री धर वापसी की गारंटी करने, विभिन्न राज्यों  से मजदूरों और छात्रों को लाने के लिए ट्रेनों की संख्या बढाने, प्रवासी मजदूरों समेत अन्य सभी वैसे नागरिकों को जो आयकर के दायरे से बाहर हैं के बैंक खाते में  पी. एम केयर फंड से अविलंब 10 हजार रुपये की सहायता राशि भेजने और सार्वभौमिक राशन प्रणाली लागू करते हुए उनमें से सभी गरीबों को फ्री राशन देने दिए जाने की मांगों को लेकर झारखंड के वामदलों ने  9 मई को राज्यव्यापी विरोध दिवस मनाए जाने का फैसला किया है. इसकी घोषणा आज वामदलों के नेताओं ने विडियो कालिंग के जरिए आपस मे चर्चा करने के बाद की.
विरोध दिवस का यह कार्यक्रम लाकडाउन की परिस्थिति में फिजिकल डिस्सटेंसिग का सख्ती से पालन करते हुए आयोजित किया जाएगा. 9मई को वामदलों के कार्यकताओं, समर्थकों द्वारा पूर्वाह्न 11 बजे से 11.30  बजे तक पार्टी दफ्तरों, अपने घरों के दरवाजों, छतों और बालकनी पर इन मांगों का पोस्टर लेकर प्रदर्शन करते हुए नारे लगाए जायेंगे और इसका फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए अखबारों, टीवी चैनलों और न्युजवेब पोर्टल को भेजे जायेंगें.
इस कार्यक्रम को व्यापक बनाने के लिए मजदूरों, किसानों, छात्रों, युवाओं और महिलाओं के जनसंगठनों के जन संगठनों से भी अपील की गयी है कि इस कार्यक्रम मे भागीदारी करें. 
वामदलों की सभी जिला कमिटियां-परिषदें इन मांगों का एक  संयुक्त ज्ञापन बनाकर प्रधानमंत्री  कार्यालय के पोर्टल  पर ईमेल करेंगे.