भारत की महिला हॉकी खिलाड़ी लालरेम्सियामी को साल 2019 की एफआईएच की सर्वश्रेष्ठ उभरती हुई महिला खिलाड़ी का अवार्ड मिला है। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के अनुसार 19 साल की स्ट्राइकर लालरेम्सियामी ने अवार्ड की दौड़ में अर्जेंटीना की जूलिएटा जांकुनास और नीदरलैंड की फ्रेडरिक माटला को पराजित किया। जूलिएटा दूसरे जबकि फ्रेडरिक तीसरे स्थान पर रही। 
लालरेम्सियामी को 40 फीसदी वोट मिले। उन्हें राष्ट्रीय संघों से 47.7 फीसदी , मीडिया से 28.4 फीसदी और प्रशंसकों तथा खिलाड़ियों से 36.4 फीसदी वोट मिले। बेलारूस के खिलाफ 2017 में पदार्पण करने के बाद से ही लालरेम्सियामी भारतीय टीम में शामिल रही हैं। हिरोशिमा में एफआईएच सीरिज फाइनल्स के दौरान लालरेम्सियामी के पिता का निधन हो गया था पर इस दुख को झेलते हुए उसने खेलने का फैसला किया। 
मनप्रीत सर्वश्रेष्ठ पुरुष खिलाड़ी का पुरस्कार जीतने वाले पहले भारतीय 
भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) के साल का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीतने वाले पहले भारतीय बने हैं। मनप्रीत ने इस दौरान बेल्जियम के आर्थर वान डोरेन और अर्जेन्टीना के लुकास विला को पीछे छोड़ा जो दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। राष्ट्रीय संघों, मीडिया, प्रशंसकों और खिलाड़ियों के संयुक्त मतों में मनप्रीत को 35.2 फीसदी मत मिले। वहीं वान डोरेन ने कुल 19.7 फीसदी जबकि विला ने 16.5 फीसदी मत हासिल किए। इस पुरस्कार के लिए बेल्जियम के विक्टर वेगनेज और आस्ट्रेलिया के एरन जालेवस्की और एडी ओकेनडेन को भी नामांकित किया गया था।
27 साल के मनप्रीत ने 2011 में सीनियर राष्ट्रीय टीम के लिए पदार्पण किया था। वह अब तक भारत की ओर से 260 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। मनप्रीत ने टीम के पिछले सत्र को शानदार बताते हुए कहा, ‘अगर आप साल में हमारे प्रदर्शन को देखें तो हमने जिस भी टूर्नामेंट में हिस्सा लिया उसमें अच्छा किया। यह जून में एफआईएच सीरीज फाइनल हो या बेल्जियम में टेस्ट सीरीज, जहां हम मेजबान और स्पेन के खिलाफ खेले और उन्हें हराया।’ उन्होंने कहा, ‘2019 में हमारा सबसे बड़ा लक्ष्य ओलिंपिक में जगह बनाना था।’ भारत ने दो ओलिंपिक क्वॉलिफायर में रूस को 4-2 और 7-2 से हराकर यह लक्ष्य हासिल किया। मनप्रीत ने इस पुरस्कार को टीम के अपने साथियों को समर्पित करते हुए कहा कि उनके समर्थन के बिना यह संभव नहीं था। उन्होंने कहा, ‘यह पुरस्कार जीतकर मैं बेहद सम्मानित महसूस कर रहा हूं और मैं इसे अपनी टीम को समर्पित करना चाहता हूं। मैं अपने शुभचिंतकों और दुनियाभर के हाकी प्रशंसकों को धन्यवाद कहना चाहता हूं जिन्होंने मेरे पक्ष में मतदान किया।’