निगमीकरण पर आयुध कर्मियों की हड़ताल को लेकर बुधवार को ओएफके और वीएफजे में गेट मीटिंग हुई। श्रमिक नेताओं का कहना रहा कि अधिकारों के लिए औद्योगिक अधिनियम के तहत होने वाली हड़ताल अवैधानिक कैसे हो सकती है। आयुध निर्माणी खमरिया के गेट नंबर 7 और वीएफजे के गेट नंबर 3 पर राष्ट्रीय स्तर के नेता नरेंद्र तिवारी, अरुण दुबे, रामप्रवेश ने कर्मचारियों को संबोधित किया।

सेवा शर्तें बदलेंगी तो क्या होगा | श्रमिक नेताओं और कर्मचारियों की देर शाम जीसीएफ के स्टाफ क्लब में आयोजित सभा में एआईडीईएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एसएन पाठक ने कहा कि सेवा शर्तों में बदलाव होगा। जिससे हर कर्मचारी अपने भविष्य को लेकर अधिक चिंतित है। दूसरी ओर निर्माणियों का भविष्य भी अंधकार में है। इस दौरान राकेश शर्मा, राजेंद्र चडारिया, रूपेश पाठक, नेम सिंह, श्रीराम मीणा, पुष्पेंद्र सिंह, आनंद शर्मा, अरुण मिश्रा, प्रेमलाल सेन, केके शर्मा, सतिन शर्मा मौजूद रहे।