दुबई । किंग्स इलेवन पंजाब आईपीएल के 13 वें सत्र में शुरुआती झटकों से उबरकर एक बार फिर प्लेऑफ की दौड़ में शामिल हो गयी है। एक समय ऐसा लग रहा था कि टीम के पास कोई संभावनाएं नहीं है पर इसके बाद कुंबले और राहुल की रणनीति से टीम ने शानदार वापसी की है। एक के बाद एक लगातार 4 मैचों में मिली शानदार जीत के बाद अब पंजाब भी खिताबी दावेदार के तौर पर उभरी है। सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मिलती जीत के बाद हर किसी कुंबले और राहुल की जोड़ी का प्रशंसक बन गया है। शुरुआत चार मैचों में टीम को मिली हार के बाद भी कुंबले ने हिम्मत नहीं हारी और टीम का मनोबल बढ़ाते रहे। यहां तक कि टीम ने स्टार खिलाड़ियों से भरी विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर (आरसीबी) को भी हरा दिया। यहीं से टीम की किस्मत पलटनी शुरु हो गयी। इसके बाद पंजाब की टीम ने मुंबई को डबल सुपर ओवर में हराया। दिल्ली कैपिटल्स को पराजित किया और अब सनराइजर्स के खिलाफ रोमांचक मुकाबले में जीत दर्ज की है। 
कोच कुंबले एक ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जो कभी भी हिम्मत नहीं हारते। अपने करियर के दौरान कई बार कुंबले ने यह बात साबित भी की है। कप्तान केएल राहुल भी शानदार कप्तानी कर रहे हैं। लगातार हार के बाद भी उन्होंने टीम में ज्यादा बदलाव नहीं किए हैं। खिलाड़ियों पर भरोसा जताया जिसका परिणा भी अब उन्हें मिल रहा है। किंग्स इलेवन पंजाब की टीम में स्टार खिलाड़ी क्रिस गेल प्लेइंग इलेवन में पहली पसंद नहीं थे पर इसके बाद जैसे ही वह मैदान में आये टीम का हाल बदल गया। उनके आने के बाद से ही टीम लगातार जीत रही है।