रायपुर, ।  ‘राजीव गांधी किसान न्याय योजना आज प्रदेश के मेहतनतकश किसानों की पहचान बन चुकी है। प्रदेश सरकार अब तक धान को समर्थन मूल्य पर खरीदती रही है, लेकिन अब आगे कोदो-कुटकी को भी समर्थन मूल्य पर खरीदेगी।‘ यह बात प्रदेश के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने बस्तर संभाग के प्रवास के दौरान जिला मुख्यालय के नवीन विश्राम गृह में आयोजित जनप्रतिनिधियों से संवाद कार्यक्रम में कही। 
    मुख्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में आगे कहा कि कोंडागांव में वृहत् कार्यक्रमों के जरिए पता चला कि शासन की विभिन्न योजनाओं का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन हो रहा है, चाहे इंग्लिश मीडियम स्कूल हो या सामुदायिक और व्यक्तिगत वन अधिकार मान्यता पत्र वितरण। मुख्यमंत्री ने गोधन न्याय योजना का जिक्र करते हुए कहा कि अब तो ग्रामीण गोबर बेचकर मोटरसायकल भी खरीद रहे हैं। शिल्प नगरी कोंडागांव के बच्चे फर्राटेदार इंग्लिश बोल रहे हैं, यह एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने उपस्थित जनप्रतिनिधियों में उत्साह का संचार करते हुए आव्हान किया कि शासन की सभी योजनाओं को निचले स्तर तक पहुंचाकर आमजनता को उनका भागीदार बनाएं। कार्यक्रम में वरिष्ठ जनप्रतिनिधियों ने भी अपने विचार मंच पर रखे। 
    इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रूद्रकुमार, वाणिज्य एवं आबकारी मंत्री  कवासी लखमा, बस्तर सांसद  दीपक बैज, राज्यसभा सांसद श्रीमती फूलोदेवी नेताम, बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष  लखेश्वर सिंह बघेल, कोंडागांव विधायक  मोहन मरकाम, केशकाल विधायक  संतराम नेताम, जिला पंचायत अध्यक्ष  देवचंद मातलाम सहित कलेक्टर  पुष्पेंद्र मीणा, एसपी सिद्धार्थ तिवारी सहित जिला पंचायत, जनपद पंचायत तथा ग्राम पंचायत स्तर के जनप्रतिनधि मौजूद रहे।