ग्वालियर एमपी के ग्वालियर जिले में घर के बाहर खेल रहे डेढ़ साल के मासूम बच्चे का अपहरण हो गया है। अपहरण की इस घटना को अंजाम एक टीचर ने अपने साथी के साथ मिल कर दिया है। आरोपी मासूम बच्चे के घर के बगल में ही रहता है। सीसीटीवी कैमरे से उसकी करतूत का खुलासा हुआ है।
दरसअल, थाटीपुर थाना क्षेत्र के दुलपुर में रहने वाले हरवंश नरवरिया का डेढ़ साल का बेटा अरविंद नरवरिया शाम 6:30 बजे घर के बाहर खेल रहा था। तभी पड़ोस में रहने वाले पेशे से शिक्षक राधाशरण बच्चे को खेलते हुए देख उसके पास पहुंचा। बच्चे को गोद में उठाकर वह कुछ दूरी पर गली में जाकर छिप गया। उसके बाद शिक्षक का दूसरा साथी लल्ला उर्फ धर्मवीर गाड़ी से घर से थोड़ी दूर पहुंचा और बच्चे को बीच में बैठा कर दोनों भाग गए।

बच्चा नहीं मिला
वहीं, जब माता-पिता ने बच्चे को घर के बाहर नहीं पाया, तो आसपास रहने वाले लोगों से पूछताछ की। लेकिन बच्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली, उसके बाद परिवार के लोगों ने मकान के ठीक सामने लगे सीसीटीवी कैमरे को चेक किया। सीसीटीवी कैमरे में दिखा कि पड़ोसी शिक्षक बच्चे को गोद में उठा कर ले जा रहा है। उसके बाद परिवार के लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।

बच्चा बरामद
घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस की टीम एक्टिव हो गई। पुलिस ने अपहरण कर ले गए बदमाशों की घेराबंदी की, तो घटनास्थल से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर राधाशरण को धर दबोचा और बच्चे को बरामद कर लिया, जिसे परिवार के सुपुत्र कर दिया। लेकिन एक आरोपी धर्मवीर पुलिस को चकमा देने में सफल हो गया और वहां से भाग निकला। फिलहाल पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर गिरफ्तार शिक्षक से पूछताछ कर रही है।